जम्मू कश्मीर : सरकार के आश्वासन के बाद लिपिक कर्मचारियों ने हड़ताल वापस ली

विभिन्न लिपिक कैडर संगठनों के नेताओं ने लिपिक कैडर में वेतन में विसंगतियों को दूर करने के लिए अपनी मांग पर दबाव बनाने के लिए एक समन्वय समिति गठित की है.

जम्मू कश्मीर : सरकार के आश्वासन के बाद लिपिक कर्मचारियों ने हड़ताल वापस ली

(प्रतीकात्मक तस्वीर)

जम्मू :

जम्मू कश्मीर में विभिन्न सरकारी विभागों में काम करने वाले लिपिक कर्मचारियों ने वेतन में विसंगतियां दूर करने की लंबे समय से चली आ रही अपनी मांग पर शीघ्र ही सुनवाई करने के राज्य सरकार के आश्वासन के बाद तीन सप्ताह से जारी अपनी हड़ताल वापस ले ली है. हालांकि उन्होंने धमकी दी है कि अगर सरकार दी गई निर्धारित समय सीमा के भीतर मुददा सुलझाने में असफल रहती है तो वे फिर से अपनी हड़ताल शुरू कर सकते हैं. लिपिक कर्मचारी 16 अप्रैल से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गये थे जिसके कारण पूरे राज्य के सरकारी कार्यालयों में कामकाज बुरी तरह प्रभावित हुआ.

यह भी पढ़ें : बैंक कर्मचारियों के संगठन ने दो प्रतिशत वेतन वृद्धि को ठुकराया, दी हड़ताल की चेतावनी

विभिन्न लिपिक कैडर संगठनों के नेताओं ने लिपिक कैडर में वेतन में विसंगतियों को दूर करने के लिए अपनी मांग पर दबाव बनाने के लिए एक समन्वय समिति गठित की है. सभी विभागों के लिपिक कर्मचारी संघ के नेता बाबू हसन मलिक ने बताया कि हमारी वेतन संबंधी विसंगतियों को तीन सप्ताह के भीतर सुलझा लिये जाने के वित्त मंत्री सैयद अल्ताफ बुखारी के आश्वासन के बाद हमने हड़ताल वापस ले ली और सोमवार को फिर से अपना काम शुरू किया. हम 29 मई तक हड़ताल पर नहीं जाएंगे.

Newsbeep

VIDEO : मेहुल चोकसी ने कर्मचारियों को लिखी चिट्ठी, कहा - दूसरी नौकरी खोज लें​

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)