सत्यपाल मलिक बोले, मैं प्रोटोकॉल तोड़कर उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती से मदद मांगने उनके घर गया

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक (Satya Pal Malik) ने कहा कि वे राज्य मे आतंकवाद का सफाया कराने के बाद ही दम लेंगे. 

सत्यपाल मलिक बोले, मैं प्रोटोकॉल तोड़कर उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती से मदद मांगने उनके घर गया

राज्यपाल सत्यपाल मलिक (Satya Pal Malik) ने कहा कि वे राज्य मे आतंकवाद का सफाया कराने के बाद ही दम लेंगे.

गाजियाबाद:

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक (Satya Pal Malik) ने कहा कि वे राज्य मे आतंकवाद का सफाया कराने के बाद ही दम लेंगे. शनिवार को दिल्ली से सटे गाजियाबाद में आयोजित एक कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत के दौरान मलिक ने कहा कि आतंकवाद (व्यक्ति के) 'दिमाग' में है न कि बंदूकों में और उनकी प्राथमिकता राज्य में आतंकवादियों का नहीं बल्कि आतंकवाद का सफाया कराना है. राज्यपाल ने कहा कि जम्मू कश्मीर में अब पूरा परिदृश्य ‘भिन्न' है. गांववासी अब आतंकवादियों को शरण देने के बजाय सुरक्षाबलों और पुलिस को उन्हें गिरफ्तार कराने में मदद करते हैं.

जम्मू-कश्मीरः राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने लिए तीन ऐसे फैसले, जिस पर भड़क उठीं महबूबा मुफ्ती

उन्होंने कहा कि सभी जिलाधिकारियों को ग्रामीणों की शिकायतें व्यक्तिगत रुप से सुनने और हल करने का निर्देश दिया गया है. सत्यपाल मलिक (Satya Pal Malik) ने कहा, ‘‘ राज्यपाल के प्रोटोकोल का परवाह किये बगैर मैं राज्य में बेहतर कानून व्यवस्था प्रदान करने और तरक्की के लिए पूर्व मुख्यमंत्रियों उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती की मदद मांगने के लिए व्यक्तिगत रुप से उनसे मिलने उनके निवास पर गया''. राज्यपाल (Satya Pal Malik) ने दावा किया कि सरकार सभी विकास योजनाओं को पूरा करने को इच्छुक है जिनके लिए बैंकों से 8000 करोड़ रुपये का ऋण लिया गया है. (इनपुट- भाषा)

सत्यपाल मलिक के 'इस फैसले' की महबूबा मुफ्ती और उमर अबदुल्ला ने की तारीफ, कही यह बात... 

VIDEO: क्या कहा रवीश कुमार ने फ़ैक्स मशीन को लेकर राज्यपाल मलिक के सामने

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com