श्रीनगर की जामा मस्जिद में घुसे नकाबपोश, फहराया ISIS का झंडा, मंच पर चढ़कर लगाए नारे, वीडियो हुआ वायरल

अधिकारियों ने बताया कि घटना जुमे की नमाज के बाद उस वक्त हुई जब अधिकतर लोग मस्जिद से जा चुके थे. उन्होंने बताया कि इन युवकों को बाद में मस्जिद में मौजूद लोगों ने भगा दिया.

श्रीनगर की जामा मस्जिद में घुसे नकाबपोश, फहराया ISIS का झंडा, मंच पर चढ़कर लगाए नारे, वीडियो हुआ वायरल

श्रीनगर की जामा मस्जिद.

खास बातें

  • जामा मस्जिद में जबरन घुसे नकाबपोश
  • मंच पर चढ़कर लगाए नारे
  • प्रबंधन कमेटी ने चेताया- पवित्रता के साथ कोई समझौता नहीं.
श्रीनगर:

जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर (Srinagar) की ऐतिहासिक जामा मस्जिद (Jama Masjid) में शुक्रवार को नकाबपोश युवकों के एक झुंड ने घुसकर आतंकी संगठन आईएसआईएस (ISIS) के झंडे फहराकर हंगामा कर दिया. युवकों कायह समूह जबरन मस्जिद में घुसा था. मस्जिद की प्रबंधन समिति और अलगाववादियों ने इस घटना की निंदा की. अधिकारियों ने बताया कि घटना जुमे की नमाज के बाद उस वक्त हुई जब अधिकतर लोग मस्जिद से जा चुके थे. उन्होंने बताया कि इन युवकों को बाद में मस्जिद में मौजूद लोगों ने भगा दिया.

घटना का वीडियो शनिवार को सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. अधिकारियों ने बताया कि हुर्रियत कांफ्रेंस के उदारवादी धड़े के अध्यक्ष मीरवाइज उमर फारुक ने मस्जिद में जुमे का उपदेश दिया था और वह भी घटना से पहले वहां से रवाना हो चुके थे. 

नोएडा नमाज विवाद: पुलिस के विवादित नोटिस के बाद सामने आया वीडियो, मुस्लिमों से पूछा- यहां मस्जिद बनाओगे?

एक अधिकारी ने बताया, ‘नकाब पहने कुछ युवक जबरन मस्जिद के अंदर घुस गए और उस मंच की ओर बढ़ने लगे जहां मीरवाइज ने उपदेश दिया था. इनमें से एक मंच पर चढ़कर नारे लगाने लगा. उन्होंने आईएसआईएस का झंडा लिया हुआ था.' युवकों को इसके बाद वहां मौजूद लोगों ने भगा दिया. 

‘अंजुमान औकाफ जामा मस्जिद' की प्रबंध समिति ने इस घटना की निंदा की है. ज्वाइंट रेसिसटांस लीडरशिप (जेआरएल) के बैनर तले अलगाववादियों ने भी इस घटना की निंदा की. जेआरएल में मीरवाइज सैयद अली गिलानी और मोहम्मद यासिन मलिक भी शामिल हैं.

एडा नमाज विवाद: ओवैसी बोले- कांवड़ियों पर फूल बरसाती है यूपी पुलिस, पर सप्ताह में एक बार नमाज पढ़ने से सौहार्द बिगड़ जाता है

मस्जिद कमेटी की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है, 'वीडियो देखकर साफ पता लग रहा है कि इसको पूरी तरह से योजनाबद्ध तरीके से अंजाम दिया गया है. इससे स्वाभाविक रूप से लोगों में आघात, आक्रोश और गहरी नाराजगी हुई है. इस घटना की वजह से मस्जिद से जुड़ी उनकी भावनाओं को गहरी चोट पहुंची है.'

कमेटी ने साथ ही चेताया है कि मस्जिद और मंच की पवित्रता के साथ किसी भी कीमत पर समझौता नहीं किया जाएगा.

(इनपुट- भाषा)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

नोएडा पुलिस का विवादित नोटिस: अगर पार्क में कर्मचारियों ने पढ़ी नमाज तो कंपनी होगी जिम्मेदार

VIDEO- सभी 10 संदिग्धों को कोर्ट ने 12 दिन की NIA रिमांड पर भेजा