NDTV Khabar

जम्मू-कश्मीर में पुलिस ने जब़्त की दुर्लभ जड़ी-बूटी 'जख्म-ए-हयात'

जम्मू कश्मीर के डोडा जिले से तस्करी करके लाई जा रही तीन लाख रुपये मूल्य की दुर्लभ औषधीय जड़ी बूटी जब्त की गई है. एक वन अधिकारी ने रविवार को यह जानकारी दी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जम्मू-कश्मीर में पुलिस ने जब़्त की दुर्लभ जड़ी-बूटी 'जख्म-ए-हयात'

पुलिस ने तीन लाख रुपये मूल्य की दुर्लभ औषधीय जड़ी बूटी जब्त की गई है.

भद्रवाह:

जम्मू कश्मीर के डोडा जिले से तस्करी करके लाई जा रही तीन लाख रुपये मूल्य की दुर्लभ औषधीय जड़ी बूटी जब्त की गई है. एक वन अधिकारी ने रविवार को यह जानकारी दी. वन विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पड़ोसी हिमाचल प्रदेश से डोडा को जोड़ने वाले अंतरराज्यीय भद्रवाह-चंबा मार्ग पर शनिवार की रात एक अभियान के दौरान 500 किलोग्राम ‘बर्गनिया सिलियाटा' जिसे स्थानीय रूप से 'जख्म-ए-हयात' के रूप में जाना जाता है, जब्त की गई. उन्होंने बताया कि कथित तस्कर भागने में सफल हो गये.  

टिप्पणियां

मिल गई 'संजीवनी बूटी', होगा अभी और शोध


भद्रवाह में संभागीय वन अधिकारी चन्द्र शेखर ने बताया कि जब्त की गई औषधि की कीमत स्थानीय बाजार में साढ़े तीन लाख रुपये है.यह लुप्तप्राय जड़ी बूटी हिमाचल प्रदेश के चंबा शहर से खच्चरों से लाई जा रही थी. उन्होंने बताया कि तस्कर थानहला गांव से हैं और इनके खिलाफ जम्मू-कश्मीर वन अधिनियम 1987 की धारा छह के उल्लंघन का मामला दर्ज किया जायेगा. अधिकारी ने बताया कि यह दुर्लभ जड़ी बूटी हिमालयी क्षेत्र में 2,500 से 3,800 मीटर की ऊंचाई पर पाई जाती है. माना जाता है कि इसकी जड़ी का उपयोग गुर्दे की पथरी, खराब गुर्दे, चक्कर और सिरदर्द के इलाज के लिए किया जाता है. 



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement