NDTV Khabar

कठुआ में 8 साल की बच्ची से रेप और मर्डर मामले में बढ़ा बवाल, बार एसोसिएशन ने बुलाया जम्मू बंद

जम्मू-कश्मीर के कठुआ में आठ साल की मासूम से रेप और हत्या के मामले पर राजनीति तेज होती जा रही है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कठुआ में 8 साल की बच्ची से रेप और मर्डर मामले में बढ़ा बवाल, बार एसोसिएशन ने बुलाया जम्मू बंद

प्रतीकात्मक तस्वीर

जम्मू: जम्मू-कश्मीर के कठुआ में आठ साल की मासूम से रेप और हत्या के मामले पर राजनीति तेज होती जा रही है. मंगलवार को वकीलो ने इस बारे में चार्जशीट दाखिल करने जा रही टीम का विरोध किया और अब बुधवार को जम्मू बंद बुलाया गया है. पुलिस ने इस बारे में कुछ वकीलों के खिलाफ मामला भी दर्ज किया है.

हालांकि, जिस तरह से डिस्ट्रिक्ट जेल के आगे कठुआ बार के वकील प्रदर्शन कर रहे हैं, वह इंसाफ के रास्ते में रोड़ा अटकाने की ये कोशिश हैरान करने वाली है. हैरान करने वाली बात है कि इनकी कोशिश आठ साल की बच्ची से रेप और उसकी हत्या के मामले में सात आरोपियों के खिलाफ जम्मू-कश्मीर क्राइम ब्रांच को चार्जशीट दायर से रोकने की है. काफी मशक्कत के बाद क्राइम ब्रांच की टीम दाखिल तो हो गई लेकिन चीफ ज्यूडिशयल मजिस्ट्रेट को उसे मंजूर करने में छह घंटे और लगे, वो भी जम्मू कश्मीर के कानून मंत्री की दखल के बाद.

कठुआ बलात्कार-हत्या मामला : एक आरोपी के खिलाफ पृथक आरोप पत्र दायर

जम्मू कश्मीर पुलिस ने उन वकीलों के खिलाफ काम में बाधा पहुंचाने का केस दर्ज किया है. बताया जा रहा है कि बार एसोसिएशन, बीजेपी की राज्य इकाई से ताल्लुक रखती है जो मासूम की रेप और हत्या के मामले का राजनीतिकरण करते हुए आरोपियों का बचाव कर रही है. इतना ही नहीं सीबीआई जांच की मांग करते हुए बुधवार को जम्मू बंद भी बुलाया गया है.

जनवरी में बीजेपी के वनमंत्री लाल सिंह और उद्योग मंत्री चंद्रप्रकाश गंगा दोनों एक स्थानीय समूह हिंदू एकता मंच के साथ खड़े दिखे, जिसने राष्ट्रीय ध्वज के साथ रैली निकालकर गिरफ्तारियों को हिंदुओं पर लक्षित हमला करार दिया, जिसके जवाब में मुख्यमंत्री महबूबा के बयान पर सहयोगी पार्टी बीजेपी से उनके गहरे मतभेद सामने आ गए.

कठुआ मामला: अपराध शाखा ने सात आरोपियों के खिलाफ आरोपपत्र दायर किया

टिप्पणियां
मंगलवार को पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट कर कहा, ' 'वकीलों के भेस में कठुआ की भीड़ के ख़िलाफ़ जम्मू-कश्मीर की कार्रवाई की सराहना करते हुए ये भी नहीं भूलना चाहिए कि महबूबा मुफ्ती की कैबिनेट को दो बीजेपी मंत्रियों के बयानों से भीड़ को शह मिली. उनके ख़िलाफ़ कार्रवाई का क्या?

गौरतलब है कि मासूम बच्ची से रेप और हत्या के मामले में अभी तक 8 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है, जिसमें 2 स्पेशल पुलिस अफसर, एक हेड कांस्टेबल, एक सबइंस्पेकटर, एक कठुआ निवासी और एक नाबालिग शामिल हैं. फोरेंसिक जांच में ये बात साबित हो चुकी है कि हत्या के पहले उसे मंदिर के भीतर एक हफ्ते तक टार्चर किया गया.
 
VIDEO: जम्मू-कश्मीर : बॉर्डर पर BSF की जवाबी फायरिंग में पाकिस्तान के 7 रेंजर ढेर


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement