NDTV Khabar

जम्मू कश्मीर में 'AFSPA' हटाने के सवाल पर भारतीय सेना को लेकर सीएम महबूबा मुफ्ती ने कहा यह....

जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने कहा, ‘‘भारतीय सेना दुनिया में सबसे ज्यादा अनुशासित है. वे सुरक्षा व्यवस्था बेहतर करने में लगे हुए हैं...उन्हीं की वजह से हमलोग आज यहां पर है... उन्होंने काफी बलिदान दिये हैं.’’

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जम्मू कश्मीर में 'AFSPA' हटाने के सवाल पर भारतीय सेना को लेकर सीएम महबूबा मुफ्ती ने कहा यह....

जम्मू कश्मीर में 'AFSPA' हटाने के सवाल पर सीएम महबूबा मुफ्ती ने कहा यह.... (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने राज्य में हालात का हवाला दिय
  2. अफ्सपा को लेकर कहा कि यह नहीं हटाया जाएगा
  3. भारतीय सेना पूरी दुनिया में ‘‘सबसे अनुशासित’’ है
जम्मू: जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने हालात का हवाला देते हुए कश्मीर में विवादित अफ्सपा को हटाने से इनकार कर दिया और कहा कि भारतीय सेना पूरी दुनिया में ‘‘सबसे अनुशासित’’ है. महबूबा मुफ्ती ने कहा कि कश्मीर की बिगड़ती सुरक्षा स्थिति की वजह से घाटी में सेना की तैनाती में बढ़ोतरी हुई है. उन्होंने कहा, ‘‘भारतीय सेना दुनिया में सबसे ज्यादा अनुशासित है. वे सुरक्षा व्यवस्था बेहतर करने में लगे हुए हैं...उन्हीं की वजह से हमलोग आज यहां पर है... उन्होंने काफी बलिदान दिये हैं.’’

महबूबा मुफ़्ती बोलीं, एक भी नागरिक की मौत होती तो शांति वार्ता को लगता है झटका

इस बीच बता दें कि सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत कह चुके हैं कि सशस्त्र बल विशेषाधिकार कानून (अफस्पा) पर किसी पुनर्विचार या इसके प्रावधानों को हल्का बनाने का समय नहीं आया है. उन्होंने कहा कि भारतीय सेना गड़बड़ी वाले जम्मू-कश्मीर जैसे राज्यों में काम करते समय मानवाधिकारों की रक्षा के लिए पर्याप्त सावधानी बरत रही है.

VIDEO - पिछले पांच दिनों में पाक की ओर से गोलाबारी में 5 जवान शहीद


टिप्पणियां
जनरल रावत ने एक इंटरव्यू में कहा, 'मुझे नहीं लगता कि इस समय अफस्पा पर पुनर्विचार करने का समय आ गया है.' उनसे इन खबरों के बारे में पूछा गया था कि सरकार इन राज्यों में अफस्पा के हल्के स्वरूप की मांग को लेकर समीक्षा कर रही है. सेना प्रमुख ने कहा कि अफस्पा में कुछ कठोर प्रावधान हैं, लेकिन सेना अधिक नुकसान को लेकर और यह सुनिश्चित करने को लेकर चिंतित रहती है कि कानून के तहत उसके अभियानों से स्थानीय लोगों को असुविधा न हो.

इनपुट- भाषा


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement