NDTV Khabar

शिव सेना बोली- राष्‍ट्र विरोधी था पीडीपी से गठबंधन, कांग्रेस ने गठबंधन पर लगाया राज्‍य को बर्बाद करने का आरोप

बीजेपी महासचिव और जम्‍मू-कश्‍मीर के प्रभारी राम माधव पीडीपी के साथ गठबंधन तोड़ने की घोषणा की.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
शिव सेना बोली- राष्‍ट्र विरोधी था पीडीपी से गठबंधन, कांग्रेस ने गठबंधन पर लगाया राज्‍य को बर्बाद करने का आरोप

महबूबा मुफ्ती और पीएम मोदी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: पीडीपी-बीजेपी गठबंधन के टूट जाने की खबर पर शि‍व सेना ने कहा कि यह गठबंधन राष्‍ट्र विरोधी था. शिव सेना के वरिष्‍ठ नेता संजय राउत ने कहा कि हमारे शिव सेना प्रमुख ने गठबंधन बनने के समय ही कहा था कि यह चलने वाली नहीं है. उधर कांग्रेस ने भी कहा है कि केंद्र ने अपनी गलती मान ली है. कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि गठबंधन ने जम्‍मू-कश्‍मीर को बर्बाद कर दिया है. साथ ही उन्‍होंने कहा कि राज्‍य में सरकार बनाने के लिए वह किसी के साथ नहीं जाने वाली है.  

यह भी पढ़ें :  इस्तीफे के बाद बोलीं महबूबा मुफ्ती, BJP के साथ गठबंधन पावर के लिए नहीं था

इससे पहले बीजेपी महासचिव और जम्‍मू-कश्‍मीर के प्रभारी राम माधव ने पीडीपी के साथ गठबंधन तोड़ने की घोषणा की. उन्‍होंने कहा कि गठबंधन सरकार चलाना अब मुश्‍किल हो गया था. ऐसे में साथ बने रहने का कोई मतलब नहीं था. राम माधन ने कहा कि गठबंधन तोड़ने की घोषणा करने से पहले इस विषय में सुरक्षा एजेंसियों, प्रधानमंत्री, पार्टी अध्‍यक्ष अमित शाह और जम्‍मू-कश्‍मीर सरकार में शामिल अपने मंत्रियों से सलाह लिया गया. देश की एकता,  अखंडता, सुरक्षा को देखते हुए बीजेपी पीडीपी गठबंधन से बाहर आ गई. उन्‍होंने कहा कि जम्‍मू-कश्‍मीर सरकार से समर्थन वापसी की चिट्ठी राज्‍य के गवर्नर को सौंप दी गई है.

यह भी पढ़ें : सरकार बनाने के लिए नेशनल कॉन्फ्रेंस किसी के साथ नहीं जाएगी : उमर अब्दुल्ला

उधर पीडीपी प्रवक्‍ता रफी अहमद मीर ने बीजेपी के गठबंधन से अलग होने पर अपनी प्रतिक्रिया में कहा कि यह मेरे लिए भी आश्‍चर्य की बात है. उन्‍होंने कहा- ''हमने बीजेपी के साथ सरकार चलाने के लिए अपनी पूरी कोशिश की. ऐसा होना ही था. यह हमारे लिए आश्चर्य की बात है क्योंकि वे ऐसा फैसला लेंगे इस बारे में कोई संकेत नहीं था.''

यह भी पढ़ें :  बीजेपी ने महबूबा मुफ्ती पर फोड़ा ठीकरा राम माधव ने कही ये 10 बड़ी बातें

इस बीच कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि पीडीपी के साथ मिलकर सरकार बनाने का उनका कोई इरादा नहीं है. गुलाम नबी ने पीडीपी-बीजेपी गठबंधन सरकार पर जम्‍मू-कश्‍मीर को बर्बाद करने का अरोप भी लगाया. उन्‍होंने कहा कि गठबंधन की सरकार ने जम्‍मू-कश्‍मीर को पूरी तरीके से बर्बाद कर दिया है. उन्‍होंने कहा कि अच्‍छा है केंद्र सरकार ने अपनी गलती मान ली है.

यह भी पढ़ें :  जम्मू-कश्मीर में महबूबा मुफ्ती सरकार से अलग हुई बीजेपी, बताए ये 5 कारण 

वहीं, पीडीपी-बीजेपी गठबंधन के टूटने पर शिव सेना नेता संजय राउत ने कहा कि हमारे पार्टी प्रमुख ने पहले ही कहा था कि यह गठबंधन नहीं चलने वाली है. संजय राउत ने कहा कि यह गठबंधन अप्राकृतिक और राष्‍ट्र विरोधी था. उन्‍होंने कहा कि अगर इस गठबंधन को वो बनाए रखते तो 2019 के लोकसभा चुनाव में उन्‍हें इसका जवाब देना होता.

इस बीच महबूबा मुफ्ती ने गवर्नर को अपना इस्‍तीफा सौंप दिया है. अपने पार्टी के विधायकों से सलाह के बाद वह प्रेस से मुखातिब होंगी. बता दें कि समर्थन वापसी की घोषणा करने से पहले राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह से मुलाकात की थी. 

यह भी पढ़ें : जम्मू कश्मीर में गिरी सरकार, महबूबा मुफ्ती बोलीं- BJP के साथ गठबंधन पावर के लिए नहीं था

बता दें कि जम्मू एवं कश्मीर की 87-सदस्यीय विधानसभा के लिए वर्ष 2014 में 25 नवंबर और 20 दिसंबर के बीच पांच चरणों में चुनाव करवाए गए थे, जिनमें तत्कालीन सत्तारूढ़ नेशनल कॉन्फ्रेंस की हार हुई, और कांग्रेस के साथ गठबंधन में सरकार चला रही पार्टी को सिर्फ 15 सीटों से संतोष करना पड़ा. दूसरी ओर, वर्ष 2008 में सिर्फ 11 सीटों पर जीती BJP ने इस बार 'मोदी लहर' में 25 सीटें जीतीं, और 52 दिन के गवर्नर शासन के बाद पूर्व केंद्रीय गृहमंत्री मुफ्ती मोहम्मद सईद की PDP को समर्थन देकर सरकार बनवा दी.

टिप्पणियां
1 मार्च, 2015 को सत्तासीन हुए सईद का जनवरी, 2016 में देहावसान होने के कारण सरकार फिर संकट में आ गई, और राज्य में एक बार फिर गवर्नर शासन लगाना पड़ा. इस बार 88 दिन तक गवर्नर शासन लगा रहने के बाद सईद की पुत्री महबूबा मुफ्ती को समर्थन देकर BJP ने फिर सरकार बनवाई, जो मंगलवार को समर्थन वापसी के ऐलान के साथ ही गिर गई है.

VIDEO: बीजेपी ने जम्मू-कश्मीर में महबूबा मुफ्ती सरकार से समर्थन वापस लिया


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement