अमरनाथ यात्रा में सुरक्षा के लिए तैनात पुलिस कर्मी हमले में घायल, किसी घर से चली गोली

अनंतनाग में पुलिसकर्मी को बस स्टैंड पर गोली मारी, किसी घर में से चली गोली, घायल जवान को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया

अमरनाथ यात्रा में सुरक्षा के लिए तैनात पुलिस कर्मी हमले में घायल, किसी घर से चली गोली

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में आतंकी हमले में एक पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल हो गया (प्रतीकात्मक फोटो).

खास बातें

  • जम्मू कश्मीर के अनंतनाग जिले की घटना
  • आतंकवादियों की ओर से की गई गोलीबारी में एक पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल
  • पुलिसकर्मी को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया है
नई दिल्ली:

आतंकियों ने अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा में तैनात एक पुलिसकर्मी पर हमला कर दिया. इससे प्रशासन के सुरक्षा के दावों की कलई खुल गई है. हमला दोपहर में करीब 12 बजे अनंतनाग बस स्टैंड पर ड्यूटी कर रहे पुलिस कर्मी गुलाम हसन पर हुआ. पुलिस के मुताबिक गोली किसी घर से चली और सीधे गुलाम हसन की गर्दन में जा लगी. उसे गंभीर हालत में अस्पताल मे भर्ती कराया गया है.

इसी गोली से एक महिला भी जख्मी हो गई है. आतंकी हमला करके भाग निकले. फिलहाल पूरे इलाके की घेराबंदी करके तलाशी ली जा रही है. पुलिस के मुताबिक जख्मी पुलिसकर्मी अमरनाथ यात्रा को सुरक्षा प्रदान करने वाली टीम का हिस्सा है.

जिस जगह पर आतंकियों ने पुलिस कर्मी को निशाना बनाया वहां से महज 75 मीटर की दूरी से अमरनाथ यात्रा का काफिला गुजरता है. गनीमत रही कि जिस वक्त यह आतंकी हमला हुआ उस वक्त वहां से होकर यात्रा नहीं गुजर रही थी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

सुरक्षाबलों का कहना है कि उन्हें ऐसे इनपुट मिले हैं कि आतंकी अमरनाथ यात्रा को निशाना बना सकते हैं, इसलिए उन्होंने पूरी तैयारी कर ली है. इसके बावजूद आतंकियों की इस हरकत ने सुरक्षा व्यवस्था पर तो सवाल खड़े कर ही दिए हैं. वैसे करीब 35 हजार से अधिक सुरक्षा कर्मी यात्रा के लिए तैनात हैं. उनका मानना है कि अगर आतंकियों ने कोई नापाक कोशिश की तो वे मार दिए जाएंगे.

घाटी में पिछले कुछ समय से आतंकवादी सुरक्षाकर्मियों को निशाना बना रहे हैं, विशेष रूप से भीड़भाड़ वाले क्षेत्रों में. अधिकतर हमलों में आतंकवादियों ने बंदूकों का इस्तेमाल किया है, क्योंकि इसे छिपाकर लाना और ले जाना आसान होता है.