श्रीनगर: साप्ताहिक बाजार में दिखी खरीददारों की भारी भीड़, लालचौक के पास भी खुलीं कई दुकानें

जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा प्रदान करने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधान समाप्त करने के बाद इसके विरोध में घाटी में तीन महीने तक बंद के बाद घाटी में जनजीवन पिछले कुछ हफ्तों से वापस पटरी पर लौट रहा था.

श्रीनगर: साप्ताहिक बाजार में दिखी खरीददारों की भारी भीड़, लालचौक के पास भी खुलीं कई दुकानें

न महीने तक बंद के बाद घाटी में जनजीवन पिछले कुछ हफ्तों से वापस पटरी पर लौट रहा है

श्रीनगर:

श्रीनगर में लगने वाले साप्ताहिक बाजार में रविवार को खरीददारों की भारी भीड़ देखने को मिली. चार दिन पहले धमकी वाले पोस्टर चिपके मिलने के बाद घाटी में बंद की स्थिति उत्पन्न हो गई थी. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. अधिकारियों ने बताया कि कश्मीर घाटी में रविवार सुबह सिविल लाइन्स समेत कुछ स्थानों पर दुकानदारों ने दुकानें खोली और क्षेत्र में छोटी बसें दौड़ती देखने को मिली. कारोबारी हब लालचौक के पास भी कुछ दुकाने खुली रहीं.

यह भी पढ़ें: SG ने सुप्रीम कोर्ट में कहा- 70 साल के बाद अधिकार छीने नहीं गए बल्कि प्रदान किए गए

हालांकि, अधिकारियों के अनुसार शहर के पुराने हिस्सों में अधिकतर दुकानें और अन्य कारोबारी प्रतिष्ठान बंद रहे. जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा प्रदान करने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधान समाप्त करने के बाद इसके विरोध में घाटी में तीन महीने तक बंद के बाद घाटी में जनजीवन पिछले कुछ हफ्तों से वापस पटरी पर लौट रहा था लेकिन यहां एवं अन्य स्थानों पर दुकानदारों एवं स्थानीय ट्रांसपोर्टरों को धमकी देने वाले पोस्टर चिपकाये जाने के बाद बुधवार से फिर से बंद शुरू हो गया.

पुलिस ने इन घटनाओं पर संज्ञान लेते हुए इनमें से कई मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया है और इसमें शामिल कुछ लोगों को गिरफ्तार किया गया है.



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com