झारखंड के शिक्षा मंत्री ने लाइन में खड़े होकर 11वीं में लिया एडमिशन, देखें तस्वीरें

झारखंड में दसवीं पास राज्य के शिक्षा मंत्री जगन्नाथ महतो ने 11वीं में एडमिशन लिया है. ऐसा उन्होंने अपने विरोधियों को जवाब देने के लिए किया है.  उन्होंने कहा कि अब वो आगे पढेंगें और ये ठान लिया है.

झारखंड के शिक्षा मंत्री ने लाइन में खड़े होकर 11वीं में लिया एडमिशन, देखें तस्वीरें

मंत्री जगन्नाथ महतो ने 11 वीं में एडमीशन लिया है.

खास बातें

  • 10वीं पास हैं शिक्षा मंत्री
  • 11वीं में लिया एडमीशन
  • अब आगे पढ़ने की है ठानी
रांची:

झारखंड में दसवीं पास राज्य के शिक्षा मंत्री जगन्नाथ महतो ने 11वीं में एडमिशन लिया है. ऐसा उन्होंने अपने विरोधियों को जवाब देने के लिए किया है.  उन्होंने कहा कि अब वो आगे पढेंगें और ये ठान लिया है. उन्होंने बोकारो नावाडीह के देवी महतो इंटर कालेज के एडमिशन काउंटर पर  छात्रों के साथ कतार में खड़े होकर राज्य के शिक्षा मंत्री ने एक सामान्य स्टूडेंट की  तरह ही अपना एडमिशन फार्म कॉलेज के काउंटर पर जमा कर 11 वीं में एडमिशन लिया. इस दौरान मीडिया के कैमरे भी उनके साथ थे. हालांकि मंत्री जी एडमीशन के दौरान होने वाली प्रक्रिया में व्यस्त थे. इसी बीच जब उन्होंने 10वीं की मार्कशीट निकाली तो मीडियाकर्मियों ने उसमें उत्सुकता दिखाई. ये देख मंत्री जगन्नाथ महतो ने पूछा कि देखना है क्या और उन्होंने अपनी मार्कशीट को कैमरे के साथ दोनों हाथों से लेकर सबको दिखाई.

7u7bntt8

मंत्री जी का यह अंदाज देख वहां मौजूद छात्र-छात्राएं भी मुस्कराए बिना न रह पाए. वहीं एडमीशन ले रहे स्कूल के क्लर्क ने भी मंत्री जी के प्रोटोकॉल का पालन करते हुए कुर्सी से खड़े होकर ही सारा काम निपटाया. इस पूरे नजारे को तस्वीरों में कैद किया गया है. 

nusqgbvg
Newsbeep

1995 में दसवीं पास जगन्नाथ महतो को आज 15 साल के बाद पढ़ने की ललक आखिर क्यों हुई? इस सवाल पर उन्होंने कहा, 'विरोधियों को अब वे हर प्रकार से जवाब देंगे. खुद पढ़ेंगे और राज्य में शिक्षा के स्तर और माहौल बनाने में भी वे जी जान से जुटेंगें. उत्साहित शिक्षा मंत्री ने आज ऐलान भी किया कि राज्य में 4416 मॉडल स्कूल खोलने की फाइल को उन्होंने मंजूरी भी दे दी है.  

3if9glpg

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


बहरहाल , दसवीं पास झारखंड के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो की पहल और हिम्मत की सराहना भी हो रही है. अब वे पढेंगें भी और राज्य के छात्रों को बेहतर शिक्षा भी दिलाएंगे.