NDTV Khabar

भूख से बच्ची की मौत के बाद हरकत में आई झारखंड सरकार, लिया ये बड़ा फैसला

झारखंड के सिमडेगा में भूख से एक बच्ची की मौत के बाद अब राज्य सरकार ने राशन के लिए आधार कार्ड की अनिवार्यता खत्म कर दी है.

587 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
भूख से बच्ची की मौत के बाद हरकत में आई झारखंड सरकार, लिया ये बड़ा फैसला

झारखंड के खाद्य आपूर्ति मंत्री सरयू राय (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. राशन के लिए कोई भी सरकार पहचान पत्र होगा मान्य
  2. हर ब्लॉक में अनाज बैंक बनाने की घोषणा
  3. राशन वितरण में गड़बड़ी की सूचना टोल फ्री नंबर के जरिये दी जा सकती है
रांची: झारखंड के सिमडेगा में भूख से एक बच्ची की मौत के बाद अब राज्य सरकार ने राशन के लिए आधार कार्ड की अनिवार्यता खत्म कर दी है. राज्य के खाद्य आपूर्ति मंत्री सरयू राय ने कहा है कि अगर किसी के पास आधार कार्ड नहीं है, तो भी उसे राशन लेने से नहीं रोका जा सकता है. किसी भी सरकारी पहचान पत्र के जरिये गरीबों को राशन दिया जाएगा. सिमडेगा में 11 साल की बच्ची की मौत के मामले में पाया गया कि उसके परिवार का राशन कार्ड आधार से लिंक नहीं था, जिस कारण परिवार का राशन कार्ड रद्द कर दिया गया था. कई महीनों से इस बच्ची के परिवार को राशन नहीं मिल रहा था.

यह भी पढ़ें : झारखंड में गरीबों को 'फर्जी' बताकर राशन कार्ड रद्द कर रही है सरकार...

मंत्री ने ये भी आदेश दिए
लाभुक किसी भी हालत में अपना कार्ड डीलर को नहीं दे और न ही कम राशन स्वीकार करे. राशन वितरण को लेकर कोई भी शिकायत हो, तो टोल फ्री नंबर 18002125512 पर सूचना दे. हर ब्लॉक में अनाज बैंक बनाने की घोषणा की गई है. दोषी डीलरों और अधिकारियों पर कारवाई के निर्देश भी दिए गए हैं.

यह भी पढ़ें : झारखंड : मंत्री सरयू राय ने भूख से बच्ची की मौत का ठीकरा मुख्य सचिव पर फोड़ा

मंत्री सरयू राय ने रद्द किए गए सभी राशन कार्डों की समीक्षा करने का आदेश दिया है. रद्द किए गए राशन कार्डों की जांच कर यह सुनिश्चित किया जाएगा कि उचित सत्यापन के बिना राशन कार्ड रद्द नहीं किए गए हैं.

VIDEO : झारखंड में भूख से बच्ची की मौत
बिना सत्यापन के राशन कार्ड रद्द करने का मामला सामने आने पर विभाग को तत्काल सूचित करने का निर्देश दिया गया है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement