झारखंड: दुकानदार ने कोरोना के चलते घर पर रहने के लिए बोला, तो गांव के लोगों ने पीट-पीटकर मार डाला

झारखंड के पलामू जिले में एक अबीजोगरीब घटना सामने आई है. जिसमें कोरोनावायरस (Coronavirus) के संक्रमण को रोकने के लिए एक 45 वर्षीय युवक सोशल डिस्टेंसिंग बनाने के लिए अपने गांव के लोगों को कह रहा था, लेकिन गांव वालों ने उसकी न सुनते हुए उसकी पिटाई कर डाली.

झारखंड: दुकानदार ने कोरोना के चलते घर पर रहने के लिए बोला, तो गांव के लोगों ने पीट-पीटकर मार डाला

प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली:

झारखंड के पलामू जिले में एक अबीजोगरीब घटना सामने आई है. जिसमें कोरोनावायरस (Coronavirus) के संक्रमण को रोकने के लिए एक 45 वर्षीय युवक सोशल डिस्टेंसिंग बनाने के लिए अपने गांव के लोगों को कह रहा था, लेकिन गांव वालों ने उसकी न सुनते हुए उसकी पिटाई कर डाली. गंभीर पिटाई की वजह से उसकी मौत हो गई. यह घटना बुधवार को पलामू जिले के चाक उदयपुर की है. 45 वर्षीय युवक काशी साव ने गांव के चार लोगों को गांव में घूमने की बजाय घर में क्वारंटाइन रहने के लिए सलाह दी.

काशी एक किराने की दुकान चलाता है और ये हमलावर उसकी दुकान पर पहुंचे थे और फिर वहां पर तोडफ़ोड़ की गई थी. यहीं पर उसे पीटा गया और बाद में गंभीर हालात में उसे अस्पताल ले जाया गया. हालांकि गंभीर चोट आने के कारण काशी साव ने दम तोड़ दिया.

बताते चले कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार की रात 8 बजे पूरे देश में लॉकडाउन करने के लिए आह्वान किया था और सबसे हाथ जोड़कर विनती की थी कि सभी अपने घरों में 21 दिनों के लिए होम क्वारंटाइन हो जाए. हालांकि देश के कई हिस्सों में इसका पालन किया जा रहा, लेकिन कई ऐसे हैं कि इसे मानने से इनकार करते हुए घरों से बाहर निकल रहे हैं. इसी कारण पुलिस को सख्ती दिखानी पड़ रही है. 25 मार्च तक देश में 606 लोग इससे संक्रमित पाए जा चुके हैं और जबकि 10 लोगों की मौत हो गई है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com