NDTV Khabar

झारखंड: मिशनरीज ऑफ चैरिटी से बच्चा बेचने का मामला, CBI जांच की उठी मांग

मिशनरीज ऑफ चैरिटी की जांच में लगी सीआईडी की टीम को 2016 से पहले का रिकॉर्ड उपलब्ध नहीं कराया गया है जिसके कारण जांच में बाधा आ रही है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
झारखंड: मिशनरीज ऑफ चैरिटी से बच्चा बेचने का मामला, CBI जांच की उठी मांग

झारखंड के मुख्‍यमंत्री रघुबर दास (फाइल फोटो)

रांची: अगले एक महीने में झारखंड में मिशनरीज ऑफ चैरिटी के विभिन्न निर्मल केंद्रों की जांच पूरी हो जाएगी. राज्य के मुख्यमंत्री रघुबर दास ने राज्य बाल संरक्षण आयोग को राज्य में महिला और बच्चों से जुड़े सभी एनजीओ की जांच कर 15 अगस्त तक रिपोर्ट देने का आदेश दिया है. इसके अलावा राज्य के पुलिस महानिदेशक ने राज्य के गृह सचिव को मिशनरीज़ ऑफ चैरिटीज़ और उससे जुड़ी विभिन्न संस्थाओं को मिली विदेशी सहायता और उसका कहीं किसी दूसरे काम में ख़र्च नहीं किया गया, इसकी जांच सीबीआई से कराने को मांग की है.

राज्य के पुलिस महानिदेशक डीके पांडेय द्वारा राज्य केंद्रित सचिव को लिखे पत्र के अनुसार पिछले 11 वर्षों के दौरान क़रीब 927 करोड़ की सहायता मिली है लेकिन उन्हें आशंका है कि इस पैसे का दुरुपयोग अन्य कामो जैसे धर्मांतरण में भी किया गया है.

टिप्पणियां
इस बीच मिशनरीज ऑफ चैरिटी की जांच में लगी सीआईडी की टीम को 2016 से पहले का रिकॉर्ड उपलब्ध नहीं कराया गया है जिसके कारण जांच में बाधा आ रही है. पुलिस ने भी सिस्टर कोंसालिया और आनिमा इंदिवर द्वारा बेचे गये चार में से मात्र एक बच्चे को बरामद करने में सफलता पायी है. पुलिस का कहना है कि इन दोनों के साथ पूछताछ के लिए पुलिस रिमांड के लिए कोर्ट में अर्ज़ी दी गयी है.

VIDEO: मदर टेरेसा की संस्था मिशनरीज ऑफ चैरिटी की रांची शाखा पर बच्चों की बिक्री का आरोप


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement