NDTV Khabar

झारखंड : भीड़ ने पीट-पीटकर की छह लोगों की हत्या, कैमरे में कैद घटना; परिजनों का आरोप, किसी ने नहीं की मदद

जानकारी के अनुसार विकास कुमार वर्मा, गौतम कुमार वर्मा और गणेश गुप्ता ने लोगों ने घर से बाहर खींचकर निकाला और जमकर पीटा. लोगों के गुस्से का कारण यह था कि उन्हें यह शक है कि ये लोग के अपहरण में शामिल थे. इस मामले में एक महिला की भी लोगों ने पिटाई की.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
झारखंड : भीड़ ने पीट-पीटकर की छह  लोगों की हत्या, कैमरे में कैद घटना; परिजनों का आरोप, किसी ने नहीं की मदद

झारखंड में भीड़ ने पिछले कुछ दिनों में छह लोगों को मौत के घाट उतार दिया है.

खास बातें

  1. बच्चों के अपहरण के आरोप में लोगों ने तीन लोगों को पीटा
  2. लोगों की पिटाई से तीनों की हो गई मौत
  3. मौके पर पहुंच पुलिस भीड़ के आगे कुछ कर नहीं पाई.
जमशेदपुर: झारखंड के जमशेदपुर में भीड़ ने तीन लोगों की पीट-पीटकर हत्या कर दी और पुलिस उन्हें बचाने के लिए ज्यादा कुछ नहीं कर पाई. लोगों ने तीनों को इतना पीटा की जब वह लगभग हिल भी नहीं पा रहे थे तब भी लोगों ने उन्हें दमभर और पीटा. जानकारी के अनुसार विकास कुमार वर्मा, गौतम कुमार वर्मा और गणेश गुप्ता ने लोगों ने घर से बाहर खींचकर निकाला और जमकर पीटा. लोगों के गुस्से का कारण यह था कि उन्हें यह शक है कि ये लोग के अपहरण में शामिल थे. इस मामले में एक बूढ़ीं महिला की भी लोगों ने पिटाई की.

विकास और गौतम के पिता का कहना है कि उन लोगों ने मेरे लड़कों की हत्या कर दी, मेरी मां को भी मारा और प्रशासन ने कुछ नहीं किया. कम से कम उन लोगों को मेरे लड़कों को बचाना चाहिे था, कम से कम भीड़ से दूर रखना चाहिए था.

एक स्थानीय नागरिक का कहना है कि उन लोगों पर बच्चों की तस्करी का आरोप है. हम सुबह से ही पुलिस को बुला रहे ते, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ. 

पुलिस का कहना है कि इलाके में बच्चों के अपहरण की चर्चाएं चल रही हैं, यहां के दूसरे जिले सरायकेला में भी तीन पशु व्यापारियों की लोगों ने पीट-पीटकर हत्या कर दी. इनके नाम नईम, सिराज खान और सज्जू थे. 

दोनों ही मामलों में जब पुलिस मौके पर पहुंची तो गांव वालों की संख्या काफी ज्यादा थी. दोनों ही मामलों में पुलिस मौके पर कुछ कर नहीं पाई. कुछ लोगों ने तो पुलिस वालों पर भी हमला किया और घायल कर दिया. लोगों ने कार और पुलिस की जीप को भी आग के हवाले कर दिया था. 

टिप्पणियां
शनिवार को कई सौ गांव वालों ने बच्चों के अपहरण के शक में भीड़ द्वारा की गई इन हत्याओं के विरोध में जमशेदपुर में प्रदर्शन भी किया था. पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए हल्का लाठी चार्ज भी किया और आंसू गैस के गोले भी दागे थे. 

राज्य के मुख्यमंत्री रघुबर दास ने इस घटना की निंदा की है और मरने वालों के परिजनों को दो-दो लाख रुपये के मुआवजे की भी घोषणा की है. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement