पीटीआई के पत्रकार पी.वी. रामानुजम का शव उनके मकान में बने दफ्तर में मिला

झारखंड की राजधानी रांची में लंबे समय से प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया (पीटीआई) के ब्यूरो चीफ रहे वरिष्ठ पत्रकार पी.वी. रामानुजम का शव बृहस्पतिवार को उनके मकान में बने दफ्तर में मिला.  रामानुजम (55) के परिवार में पत्नी और एक बेटा है.

पीटीआई के पत्रकार पी.वी. रामानुजम का शव उनके मकान में बने दफ्तर में मिला

पीवी रामानुजम के निधन पर कई नेताओं ने शोक व्यक्त किया है. (प्रतीकात्मक फोटो)

नई दिल्ली :

झारखंड की राजधानी रांची में लंबे समय से प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया (पीटीआई) के ब्यूरो चीफ रहे वरिष्ठ पत्रकार पी.वी. रामानुजम का शव बृहस्पतिवार को उनके मकान में बने दफ्तर में मिला.  रामानुजम (55) के परिवार में पत्नी और एक बेटा है. वह 35 साल तक पीटीआई से जुड़े रहे और इस दौरान वह कटक, दिल्ली और रांची में विभिन्न पदों पर रहे. पुलिस उनकी मौत से जुड़ी परिस्थितियों की जांच कर रही है. पारिवारिक सूत्रों के अनुसार, रामानुजम का अंतिम संस्कार रांची में शुक्रवार को किया जायेगा. 

झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, केन्द्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा और पूर्व मुख्यमंत्री रघुबर दास सहित विभिन्न लोगों ने वरिष्ठ पत्रकार की मौत पर शोक व्यक्त किया. सोरेन ने ट्वीट किया कि रामानुजम का यूं चले जाना पत्रकारिता जगत के लिए अपूरणीय क्षति है. उनकी पत्रकारिता से कई पत्रकारों को मार्गदर्शन एवं प्रेरणा मिली है। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें. मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी संवेदना उनके परिजनों के साथ है। भगवान उन्हें दुःख की इस घड़ी को सहन करने की शक्ति दे. 

दास ने कहा, 'रामानुजम बहुत सौम्य और व्यवहार कुशल व्यक्ति थे. ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें। मेरी संवेदना उनके परिजनों के साथ है। भगवान उन्हें यह दुःख सहन करने की शक्ति दे.'  रामानुजम के सहकर्मी उनकी मौत से शोकाकुल हैं. सभी उन्हें नि:स्वार्थ और मृदुभाषी और हमेशा सभी की मदद के लिए तत्पर व्यक्ति के रूप में याद करते हैं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

पीटीआई के पत्रकार पी.वी. रामानुजम ने की आत्महत्या



(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)