NDTV Khabar

पाकुड़ पुलिस ने धर्म परिवर्तन मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित की

पुलिस अधिकारी ने बताया कि पाकुड़ में प्रलोभन देकर और समाज सेवा की आड़ में धर्म परिवर्तन कराने की खबरों के आधार पर राज्य सरकार के निर्देश पर एसआईटी का गठन किया गया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पाकुड़ पुलिस ने धर्म परिवर्तन मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित की

प्रतीकात्मक चित्र

रांची: पाकुड़ जिला पुलिस ने कथित तौर पर प्रलोभन के जरिये धर्म परिवर्तन कराने की खबरों की जांच करने के लिए एक विशेष जांच दल (एसआईटी) गठित किया है. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने गुरुवार को यह जानकारी दी. पुलिस अधीक्षक शैलेंद्र प्रसाद बर्नवाल ने बताया कि पाकुड़ जिला समेत आदिवासी बहुल संथाल परगना क्षेत्र में प्रलोभन देकर और समाज सेवा की आड़ में धर्म परिवर्तन कराने की खबरों के आधार पर राज्य सरकार के निर्देश पर एसआईटी का गठन किया गया. उन्होंने बताया कि इस मामले की जांच करने के लिए बुधवार को एसआईटी का गठन किया गया. इसका नेतृत्त्व पाकुड़ के उप-मंडलीय पुलिस अधिकारी (एसडीपीओ) करेंगे.

यह भी पढ़ें: झारखंड: पाकुड़ में ईद की कुर्बानी को लेकर हिंसक झड़प, 9 गिरफ्तार, 110 अब भी हिरासत में

गौरतलब है कि पाकुड़ में ही कुछ समय पहले एक गैंगरेप का मामला भी सामने आया था. जानकारी के मुताबिक, फुलपहाड़ी गांव के निवासी रामदेव ठाकुर की 13 वर्षीय बेटी छोटी कुमारी सोमवार सुबह से ही घर से गायब थी. परिजनों द्वारा आस-पास के गांव में काफी खोज-बीन के बाद भी नहीं मिली थी. गाय चरानेवाले कुछ चरवाहा दातुन तोड़ने फुलपहाड़ी जंगल में लगभग दो बजे के समय गये तो पेड़ के नीचे लाश देखते ही हैरान रह गये. इसके बाद इन चरवाहों ने गांव में आकर सूचना दिया. सूचना मिलते ही आस-पास में घटना की जानकारी सब जगह फैल गई.

टिप्पणियां
यह भी पढ़ें: झारखंड में भाजपा विधायक को धमकाने वाला व्यक्ति गिरफ्तार 

ग्रामीणो ने लाश के पास आकर लाश की शिनाख्त की और परिजनों को सूचना दिया. लाश की सूचना मिलते ही परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है. घटना की जानकारी मिलते ही थाना प्रभारी घटना बिमल सिंह घटनास्थल पर पहुचे और घटना की जांच में जुटे गये. पुलिस के मुताबिक, प्रथम दृष्टया मामला दुष्कर्म कर हत्या का लग रहा है. दुष्कर्म कर हत्या की जानकारी मिलते ही मौके पर एसडीपीओ श्रवण कुमार इंस्पेक्टर रामचन्द्र राम घटनास्थल पर पहुंचकर मामले की तहकीकात शुरू कर दी. (इनपुट भाषा से) 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement