NDTV Khabar

RRB RRC Group D: रिजेक्ट एप्लीकेशन की होगी जांच, जानिए मॉडिफिकेशन लिंक पर रेलवे के अधिकारी ने क्या कहा

RRB Group D के करीब 4 लाख उम्मीदवारों के एप्लीकेशन फॉर्म रिजेक्ट किए गए हैं. उम्मीदवारों की मांग है कि मॉडिफिकेशन का लिंक एक्टिव किया जाए जिससे वह फॉर्म में सुधार कर सके.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
RRB RRC Group D: रिजेक्ट एप्लीकेशन की होगी जांच, जानिए मॉडिफिकेशन लिंक पर रेलवे के अधिकारी ने क्या कहा

RRB Group D: ग्रुप डी के लिए रेलवे को 1 करोड़ 15 लाख आवेदन प्राप्त हुए हैं.

खास बातें

  1. ग्रुप डी के लिए 4 लाख एप्लीकेशन रिजेक्ट हुईं हैं.
  2. करीब 4000 उम्मीदवारों ने शिकायत की है.
  3. 1 अगस्त से जांच शुरू की जाएगी.
नई दिल्ली:

रेलवे ग्रुप डी (RRB, RRC Group D) के 1 लाख से ज्यादा पदों पर भर्तियां कर रहा है. कई उम्मीदवारों का एप्लीकेशन रिजेक्ट हुआ है. जिन उम्मीदवारों के एप्लीकेशन फॉर्म रिजेक्ट हुए हैं, उन्हें एक और मौका मिल सकता है. दरहसल, रेलवे ग्रुप डी (RRB Group D) के लाखों उम्मीदवार अपना एप्लीकेशन फॉर्म रिजेक्ट (RRC Application Reject) होने के कारण परेशान हैं. रेलवे के तर्क है कि उम्मीदवारों के फॉर्म इनवैलिड फोटो और साइन के चलते रिजेक्ट किए गए हैं. वहीं, उम्मीदवारों का दावा है कि उनकी फोटो बिल्कुल सही है इसके बावजूद रेलवे ने उसे इनवैलिड बताकर एप्लीकेशन को रिजेक्ट कर दिया. इस मुद्दे को लेकर NDTV ने एक बार फिर रेलवे के अधिकारी से इस पर बात की. हमने उनसे पूछा कि उम्मीदवारों की समस्या का समाधान कब तक हो पाएगा. इस पर रेलवे भर्ती बोर्ड (RRB) के वरिष्ठ अधिकारी ने NDTV को बताया, ''रेलवे के रीजनल बोर्ड्स को उम्मीदवारों के कई ईमेल मिले हैं. कई उम्मीदवारों की शिकायतें मिली हैं. देश भर से करीब 4000 उम्मीदवारों ने रीजनल बोर्ड्स के पास ईमेल के माध्यम से शिकायत की है. जबकि करीब 4 लाख उम्मीदवारों के एप्लीकेशन फॉर्म रिजेक्ट किए गए हैं. शिकायतों की संख्या अभी 4000 है, उम्मीदवार 31 जुलाई यानी आज तक अपनी शिकायत भेज सकते हैं.

शिकायतों की जांच के सवाल पर अधिकारी ने कहा, ''रेलवे भर्ती बोर्ड द्वारा 1 अगस्त से देश भर से आई सभी शिकायतों की जांच की जाएगी. बोर्ड को शिकायतों की जांच करने में एक सप्ताह का समय लग सकता है. अगर शिकायतों की संख्या ज्यादा हुई तो और भी समय लग सकता है.''


RRB NTPC Admit Card: अभी नहीं जारी होगा एनटीपीसी परीक्षा का एडमिट कार्ड, ये है वजह

यह पूछे जाने पर कि क्या उम्मीदवारों को फोटो और साइन ठीक करने का मौका मिलेगा या नहीं, इस पर उन्होंने कहा, ''जांच के बाद ही रेलवे को यह पता चल पाएगा कि गलती रेलवे की है या उम्मीदवारों की. अगर रेलवे की तरह से कोई गलती पाई जाती है तो रेलवे उम्मीदवारों को एप्लीकेशन में सुधार करने के लिए मॉडिफिकेशन लिंक देगा.''

अधिकारी ने यह भी बताया कि इस साल ग्रुप डी के लिए रेलवे को 1 करोड़ 15 लाख आवेदन प्राप्त हुए हैं. कुल मिलाकर रेलवे ने यह साफ कर दिया है कि 1 अगस्त से शिकायतों की जांच होगी और रेलवे की गलती होने पर मॉडिफिकेशन लिंक एक्टिव किया जाएगा. हालांकि इस प्रक्रिया में 10-15 दिन का समय लगने की संभावना है. 

गौरतलब है कि उम्मीदवारों ने एनडीटीवी को बताया था कि उनके एप्लीकेशन फॉर्म में जो फोटो लगी है उस फोटो का इस्तेमाल वे दूसरी परीक्षाओं के एप्लीकेशन फॉर्म को भरने में भी कर चुके हैं. जहां दूसरे फॉर्म आसानी से स्वीकार्य हो गए वहीं रेलवे ने ग्रुप डी का फॉर्म रिजेक्ट कर दिया गया. उम्मीदवार चाहते हैं कि रेलवे एप्लीकेशन फॉर्म को मोडीफाई करने का लिंक एक्टिव करे.

अन्य खबरें
RRB JE Result 2019: रेलवे के अधिकारी ने बताया कब आएगा जूनियर इंजीनियर का रिजल्ट
RRB NTPC Exam: कब होगी एनटीपीसी परीक्षा? जानिए रेलवे के अधिकारी ने क्या कहा

टिप्पणियां



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement