नवोदय विद्यालयों में कब होगी शिक्षकों की भर्ती, MHRD मंत्री ने दी जानकारी

मानव संसाधन विकास मंत्री ने कहा कि सरकार का ये मानना है कि शिक्षकों के पद खाली नहीं रहने चाहिए और मंत्रालय रिक्त पदों को भरने के लिए हर संभव कदम उठा रहा है. 

नवोदय विद्यालयों में कब होगी शिक्षकों की भर्ती, MHRD मंत्री ने दी जानकारी

MHRD मंत्री ने शिक्षकों की भर्ती के बारे में जानकारी दी है.

नई दिल्ली:

मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने 14 मई को देशभर के शिक्षकों से वेबिनार के माध्यम से बातचीत की और उनके तमाम सवालों के जवाब भी दिए. वेबिनार के दौरान मंत्री ने कई अहम चीजों के बारे में जानकारी दी. उन्होंने बताया की जिन शिक्षकों ने नवोदय विद्यालय की भर्ती की प्रक्रिया पूरी कर ली है, उनकी लॉकडाउन खत्म होने के बाद नियुक्ति की जाएगी.  

शिक्षकों की भर्ती के बारे में पूछे गए सवालों के जवाब देते हुए मंत्री ने कहा कि केंद्रीय विद्यालयों में 8 हजार से ज्यादा शिक्षकों की भर्ती की जा चुकी है और 2,500 शिक्षकों की भर्ती नवोदय विद्यालयों में हो चुकी है.  उन्होंने आगे बताया कि करीब 12 हजार से ज्यादा शिक्षकों को यूनिवर्सिटी में नियुक्त किया गया है. 

मानव संसाधन विकास मंत्री ने ये भी कहा कि सरकार का ये मानना है कि शिक्षकों के पद खाली नहीं रहने चाहिए और मंत्रालय रिक्त पदों को भरने के लिए हर संभव कदम उठा रहा है. 

मंत्री ने यह भी बताया कि एमएचआरडी NIOS DLEd शिक्षकों के संबंध में जारी पटना उच्च न्यायालय के आदेश का सम्मान करेगा. बता दें कि पटना उच्च न्यायालय ने राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद के एक आदेश को रद्द कर दिया है, जिसमें कहा गया था कि जिन शिक्षकों ने NIOS के माध्यम से D.El.Ed कोर्स किया है वे नियमित रूप से  प्राथमिक विद्यालय के शिक्षकों की नियुक्ति के लिए मान्य नहीं होंगे. 

आपको बता दें कि एचआरडी मंत्री से वेबिनार के दौरान मध्‍य प्रदेश के एक शिक्षक संभव जैन ने पूछा कि स्‍कूल कब खुलेंगे और उन्‍हें किन नियमों का पालन करना होगा. 

Newsbeep

इस सवाल के जवाब में केंद्रीय मंत्री ने कहा कि यह तो कहा नहीं जा सकता कि चीजें सामान्‍य कब होंगी, लेकिन जब भी स्‍कूल खुलेंगे तय दिशा-निर्देशों का पालन करना होगा. इसके लिए एनसीईआरटी ने गाइडलाइन पर काम करना शुरू कर दिया है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


उच्‍च शिक्षा के लिए विश्वविद्यालय अनुदान आयोग यानी यूजीसी (UGC) ने एक टास्‍क फोर्स का गठन किया है, जो कॉलेजों के लिए तौर-तरीकों पर काम कर रहा है. उनहोंने यह भी बताया कि इन तरीकों के तय हो जाने के बाद ही कॉलेजों को खोला जाएगा.