NDTV Khabar

कोलकाता में बंगाल बीजेपी लीडर के घर पर बम से हमला, आरोप तृणमूल कार्यकर्ताओं पर

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
कोलकाता में बंगाल बीजेपी लीडर के घर पर बम से हमला, आरोप तृणमूल कार्यकर्ताओं पर

पार्टी सांसद की गिरफ्तारी के बाद तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ता उग्र हो गए.

खास बातें

  1. तृणमूल कार्यकर्ताओं ने बीजेपी के कोलकाता स्थित कार्यालय पर हमला किया था.
  2. कार्यालय पर हमला कर रहे थे तब पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की : बीजेपी
  3. बीजेपी दफ्तर के बाहर केंद्रीय पुलिस बलों के तैनाती कर दी गई है.
कोलकाता: पश्चिम बंगाल के सत्ताधारी दल तृणमूल कांग्रेस के सांसद सुदीप बंदोपाध्याय की सीबीआई द्वारा गिरफ्तारी के बाद राज्य में पार्टी कार्यकर्ता नाराज हैं. आज सुबह कोलकाता में पार्टी कार्यकर्ताओं ने वरिष्ठ बीजेपी नेता के घर पर हमला किया. बता दें बीती शाम को भी तृणमूल कांग्रेस के नेताओं ने बीजेपी के कोलकाता स्थित कार्यालय पर भी हमला किया.

बीजेपी नेता सिद्धार्थनाथ सिंह ने आरोप लगाया कि जब तृणमूल कार्यकर्ता बीजेपी कार्यालय पर हमला कर रहे थे तब पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की. वह मुंह फेरकर खड़े रहे. इस घटना के बाद बीजेपी दफ्तर के बाहर केंद्रीय पुलिस बलों के तैनाती कर दी गई है.

उल्लेखनीय है कि सुदीप बंदोपाध्याय को रोजवैली चिटफंड घोटले में आरोपी के तौर पर गिरफ्तार किया गया है. इस घोटाले में बंगाल के लाखों लोगों का पैसा मारा गया है.

टीएमसी सांसद सुदीप बंद्योपाध्याय की गिरफ्तारी के बाद पार्टी प्रमुख तथा पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर 'नोटबंदी के बाद तृणमूल-बंदी' का आरोप लगाया, और कहा कि उनकी पार्टी पर ये अत्याचार इसीलिए किया जा रहा है, क्योंकि उन्होंने पीएम के नोटबंदी के कदम का खुलकर विरोध किया था.

पिछले सप्ताह सीबीआई ने अभिनेता से राजनेता बने तृणमूल कांग्रेस नेता तापस पाल को गिरफ्तार किया था. पिछले साल मई में लगातार दूसरी बार राज्य की मुख्यमंत्री बनीं ममता बनर्जी ने कहा कि ये गिरफ्तारियां प्रधानमंत्री कार्यालय के निर्देश पर की जा रही हैं. उन्होंने प्रधानमंत्री पर 'बदले की राजनीति' करने का आरोप लगाते हुए कहा, "मैं (प्रधानमंत्री नरेंद्र) मोदी को चुनौती देती हूं कि अगर आप समझते हैं कि आप हमारे नेताओं को गिरफ्तार करेंगे, और हम चुप बैठेंगे, तो ऐसा नहीं होगा..."

रीयल एस्टेट तथा मनोरंजन के क्षेत्र में दखल रखने वाले बंगाल के रोज़ वैली ग्रुप द्वारा चलाई जा रही अनियमित वित्तीय निवेश योजनाओं की जांच सीबीआई कर रही है. इस मामले में दो साल पहले केस दर्ज किया गया था, जिसमें रोज़ वैली पर लगभग निवेशकों के लगभग 17,000 करोड़ रुपये चुराने का आरोप लगाया गया था.

टिप्पणियां
रोज़ वैली के स्वामित्व वाली दो कंपनियों में तापस पाल निदेशक थे. सीबीआई सूत्रों का कहना है कि सुदीप बंद्योपाध्याय ने उन सवालों से बचने की कोशिश की, जिनमें रोज़ वाली से उनके ताल्लुकात की प्रकृति के बारे में पूछा गया था. सुदीप बंद्योपाध्याय का कहना था कि उनके खिलाफ लगे आरोप अस्पष्ट हैं.

प्रधानमंत्री द्वारा अचानक लागू की गई नोटबंदी के खिलाफ संसद के भीतर और लखनऊ व पटना जैसे शहरों में सड़कों पर किए गए विपक्षी दलों के विरोध-प्रदर्शनों का ममता बनर्जी ने नेतृत्व किया. ममता बनर्जी का कहना है कि नोटबंदी की वजह से करोड़ों गरीब लोग अपने ही पैसों तक पहुंच से वंचित हो गए.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement