NDTV Khabar

पश्चिम बंगाल में ममता सरकार आज जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मनाएगी पुण्यतिथि
पढ़ें | Read IN

पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी सरकार ने पहली बार शनिवार को भारतीय जन संघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि मनाने का निर्णय लिया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पश्चिम बंगाल में ममता सरकार आज जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मनाएगी पुण्यतिथि

सीपीआईएम इस पहल को त्रिणमूल कांग्रेस और बीजेपी के बीच एक और 'मिलीभगत' के रूप में देख रही है.

खास बातें

  1. भारतीय जन संघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि आज
  2. पश्चिम बंगाल सरकार पहली बार मना रही है पुण्यतिथि
  3. सीपीआईएम ने इसे बीजेपी के साथ मिलीभगत बताया
कोलकाता : पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी सरकार ने पहली बार शनिवार को भारतीय जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि मनाने का निर्णय लिया है. हालांकि सरकार के इस निर्णय पर राजनीति शुरू हो गई है. सीपीआईएम इस पहल को तृणमूल कांग्रेस और बीजेपी के बीच एक और 'मिलीभगत' के रूप में देख रही है. सूचना एवं संस्कृति विभाग की तरफ से जारी औपचारिक निमंत्रण पत्र के अनुसार पश्चिम बंगाल सरकार के मंत्री फिरहद हकीम और सोवनदेब चट्टोपाध्याय श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि के अवसर पर पश्चिमी कोलकाता के केवड़ातल्ला श्मशान घाट में आयोजित विशेष कार्यक्रम में शिरकत करेंगे. 

यह भी पढ़ें : कोलकाता में श्यामा प्रसाद मुखर्जी की प्रतिमा क्षतिग्रस्त, 6 हिरासत में

तृणमूल कांग्रेस की नेता और कोलकाता म्यूनिसिपल कॉरपोरेशन की अध्यक्ष माला रॉय ने कहा कि, 'महान विभूतियों को सम्मान देना हमारी परंपरा है और हम इस संस्कृति में विश्वास रखते हैं'. उन्होंने कहा कि, 'शनिवार को पहले श्यामा प्रसाद मुखर्जी की तांबे की प्रतिमा का अनावरण होगा, उसके बाद उन्हें श्रद्धा सुमन अर्पित किया जाएगा'. गौरतलब है कि मार्च में त्रिपुरा में कथित तौर पर बीजेपी-आरएसएस समर्थकों द्वारा रूस के क्रांतिकारी नेता व्लादिमीर लेनिन की प्रतिमा को तोड़ने के बाद पश्चिम बंगाल में इसके विरोध के रूप में लेफ्ट समर्थकों द्वारा श्यामा प्रसाद मुखर्जी की प्रतिमा तोड़ दी गई थी. बाद में राज्य सरकार द्वारा यहां नई प्रतिमा लगवाई गई थी और घटना में शामिल लेफ्ट समर्थकों को गिरफ्तार भी किया गया था. 

यह भी पढ़ें : अब कोलकाता के कालीघाट में श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मूर्ति को पहुंचाया नुकसान, कालिख भी पोती

तृणमूल नेता सोवनदेब चट्टोपाध्याय ने कहा कि श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने राजनीतिक फायदे के लिए बीजेपी के सांप्रदायिक एजेंडे को कभी स्वीकार नहीं करते. बीजेपी धर्म को राजनीति से जोड़ रही है और राजनीतिक फायदे के लिए घृणा का वातावरण तैयार करने में लगी है. दूसरी तरफ बीजेपी नेता प्रताप बनर्जी ने चुटकी लेते हुए कहा कि, 'ममता बनर्जी को हर जगह बीजेपी का भूत दिखाई दे रहा है. यही वजह है कि अचानक उन्हें श्यामा प्रसाद मुखर्जी याद आ गये'. 

टिप्पणियां
यह भी पढ़ें : छात्रों को वीर सावरकर और श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बारे में पढ़ाएगी हरियाणा सरकार  

VIDEO: नेशनल रिपोर्टर : पेरियार, अंबेडकर भी निशाने पर


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement