3 प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचाने के लिए 12 साल की लड़की ने दान किया गुल्‍लक, फ्लाइट टिकट का किया इंतजाम

निहारिका की मां सुरभी ने कहा, ''हमने देखा कि वह जब भी न्यूज में मजदूरों की परेशानी देखती थी तो उदास हो जाती थी.

3 प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचाने के लिए 12 साल की लड़की ने दान किया गुल्‍लक, फ्लाइट टिकट का किया इंतजाम

12 साल की इस लड़की ने दान किए 48,000 रुपये.

कोरोनावायरस (Coronavirus) के खतरे का सामना आज के वक्त में पूरी दुनिया कर रही है. ऐसे में देशभर में अभी भी बहुत से प्रवासी मजदूर अपने घर पहुंचने की कोशिशों में लगे हुए हैं. ऐसे में देशभर में बहुत से लोग प्रवासी मजदूरों की मदद के लिए आगे आ रहे हैं. इसी बीच उत्तर प्रदेश के नोएडा में रहने वाली एक 12 साल की लड़की ने अपने ही अंदाज में मदद की.

बच्ची ने अपने गुल्‍लक की पूरी सेविंग्स दान कर दी है और इस पैसे से 3 प्रवासी मजदूरों को उनके घर तक पहुंचाया जाएगा. दरअसल, 12 साल की बच्ची के इस पैसे से तीनों प्रवासी मजदूर विमान से अपने घर वापस लौट पाएंगे. 

न्यूज एजेंसी एएनई के मुताबिक इस बच्ची का नाम निहारिका द्विवेदी है और वह 8वीं की छात्रा है. इस बच्ची ने झारखंड में रहने वाले 3 प्रवासी मजदूरों को विमान से घर पहुंचाने की व्यवस्था कर ली है. निहारिका ने अपने गुल्‍लक की सेविंग्स से इन प्रवासी मजदूरों के लिए एयर टिकट बुक की है और इनमें से एक कैंसर का मरीज भी है. निहारिका ने लगभग 48,000 रुपये दान किए हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

इस बारे में निहारिका की मां सुरभी ने कहा, ''हमने देखा कि वह जब भी न्यूज में मजदूरों की परेशानी देखती थी तो उदास हो जाती थी. एक दिन उसने विमान की टिकट देखी और पूछा कि क्या हम जरूरतमंद लोगों को फ्लाइट से घर भेज सकते हैं? इसके बाद उसने अपना गुल्‍लक हमें दिया और कहा कि मैं मजदूरों की मदद करना चाहती हूं. हमें अपनी बेटी की यह बात सुन कर बहुत खुशी हुई.''

उन्होंने आगे कहा, ''हमने अपने कॉमन फ्रेंड से पता चला कि 3 प्रवासी हैं जो अपने घर जाना चाहते हैं. उनमें से एक कैंसर से पीड़ित है. इसलिए हमनें उनके लिए टिकट का बंदोबस्‍त किया ताकि उन्हें घर भेज सकें''.