NDTV Khabar

Independence Day 2019: 73वें स्वतंत्रता दिवस पर अपने दोस्तों को भेजें ये फेमस शायरी

15 अगस्त की बधाई शायरी (15th August Shayari) से दें. आपके लिए यहां कुछ फेमस शायदी दी जा रही हैं, जिन्हें आप भेजकर इस इंडिपेंडेंस डे (Happy Indepencence Day) की बधाई दें.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Independence Day 2019: 73वें स्वतंत्रता दिवस पर अपने दोस्तों को भेजें ये फेमस शायरी

स्वतंत्रता दिवस की शायरी

नई दिल्ली:

73वें स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) के मौके पर आप सभी को मोबाइल के जरिए मैसेज भेजेंगे. अपने व्हाट्सऐप और फेसबुक पर स्वतंत्रता दिवस का स्टेटस (15th August Status) भी लगाएंगे. लेकिन इन सबके साथ आप इस 15 अगस्त की बधाई शायरी (15th August Shayari) से दें. आपके लिए यहां कुछ फेमस शायदी दी जा रही हैं, जिन्हें आप भेजकर इस इंडिपेंडेंस डे (Happy Indepencence Day) की बधाई दें. आजादी के जश्न के नाम की ये शायरी आपको और आप जिनको भेजेंगे, सभी को बहुत पसंद आने वाली है. 

बता दें, इस बार 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के साथ-साथ रक्षाबंधन (Raksha Bandhan) मनाया जाएगा. 


धर्म न हिन्दू का है न ही मुस्लिम का, 
धर्म तो बस इंसानियत का है, 
ये भूख से बिलखते बच्चो से पूछो, 
सच क्या है? झूठ क्या है? 
किसी मंदिर या मस्जिद से नहीं 
बेगुनाह बच्चे की मौत पर किसी मां से पूछो,
देश का सपूत बनना है तो कर्तव्य को जानो, 
अधिकार की बात न करों देश के लिए जीवन न्यौछारो !!!


ज़माने भर में मिलते हैं आशिक कई,
मग़र वतन से खूबसूरत कोई सनम नहीं होता,
नोटों में भी लिपट कर, सोने में सिमटकर मरे हैं कई,
मगर तिरंगे से खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता !!!

मैं भारत बरस का हरदम अमित सम्मान करता हूं,
यहां की चांदनी मिट्टी का ही गुणगान करता हूं,
मुझे चिंता नहीं है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की,
तिरंगा हो कफ़न मेरा, बस यही अरमान रखता हूं !!!


वतन हमारा मिसाल मोहब्बत की,
तोड़ता है दीवार नफरत की,
मेरी ख़ुशनसीबी, मिली ज़‍िंदगी इस चमन में,
भुला न सके कोई इसकी खुशबु सातों जनम में !!
स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं !!!


मैं मुस्लिम हूं, तू हिन्दू है, हैं दोनों इंसान;
ला मैं तेरी गीता पढ़ लूं, तू पढ़ ले कुरान;
अपने तो दिल में है दोस्त, बस एक ही अरमान...
एक थाली में खाना खाए सारा हिन्दुस्तान !!!


एक सैनिक ने क्या खूब कहा है...
किसी गजरे की खुशबू को महकता छोड़ आया हूं,
मेरी नन्ही सी चिड़िया को चहकता छोड़ आया हूं,
मुझे छाती से अपनी तू लगा लेना ऐ भारत मां,
मैं अपनी मां की बाहों को तरसता छोड़ आया हूं !!
जय हिन्द, वन्देमातरम् !!!


ना जियो धर्म के नाम पर,
ना मरो धर्म के नाम पर,
इंसानियत ही है धर्म वतन का,
बस जियो वतन के नाम पर !!!

आज़ादी की कभी शाम न होने देंगे, 
शहीदों की कुर्बानी बदनाम न होने देंगे, 
बची है लहू की एक बूंद भी रगों में, 
तब तक भारत माता का आंचल नीलाम न होने देंगे !!!

टिप्पणियां


जब आंखें खुले तो धरती हिन्‍दुस्‍तान की हो, 
जब आंख बंद हो तो यादें हिन्‍दुस्‍तान की हो, 
हम मर भी जाएं तो कोई ग़म नहीं, 
लेकिन मरते वक्‍त मिट्टी हिन्‍दुस्‍तान की हो !!! 

कभी ठंड में ठिठुर कर देख लेना, 
कभी तपती धूम में जलकर देख लेना, 
कैसे होती है हिफ़ाज़त मुल्‍क़ की, 
कभी सरहद पर जा कर देख लेना !! 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement