अल्जाइमर से बचाने के लिए नई दवा की खोज, अब नहीं रहेगा याददाश्त जाने का खतरा

टेट्रा थेरेप्यूटिक्स के विकास के तहत बीपीएन14770 उन प्रक्रियाओं को सक्रिय करने में मदद कर सकती है जो तंत्रिका के स्वास्थ्य में सहयोग करती हैं और डिमेंशिया को रोकती है.

अल्जाइमर से बचाने के लिए नई दवा की खोज, अब नहीं रहेगा याददाश्त जाने का खतरा

अल्जाइमर से बचाएगी नई दवा : शोध

न्यूयॉर्क:

शोधकर्ताओं ने एक नई दवा की खोज की है जो याददाश्त जाने, तंत्रिका क्षति और अल्जाइमर (Alzheimer) रोग के अन्य लक्षणों से बचा सकती है. प्रीक्लिनिकल शोध को जर्नल ऑफ फार्माकोलॉजी एंड एक्सपेरीमेंटल थेरेप्यूटिक्स में प्रकाशित किया गया है. इसमें पाया गया है कि दवा-बीपीएन14770-अमलॉइड बीटा के प्रभावों को रोकती है. अमलॉइड बीटा, अल्जाइमर प्रोटीन का हॉलमार्क है, जो तंत्रिका कोशिकाओं के लिए विषाक्त होता है.

जो बदलता है वो आगे बढ़ता है...पढ़ें ऐसे ही पॉपुलर #WednesdayWisdom कोट्स

टेट्रा थेरेप्यूटिक्स के विकास के तहत बीपीएन14770 उन प्रक्रियाओं को सक्रिय करने में मदद कर सकती है जो तंत्रिका के स्वास्थ्य में सहयोग करती हैं और डिमेंशिया को रोकती है.

बुफालो यूनिवर्सिटी के एसोसिएट प्रोफेसर शोधकर्ता यिंग जू ने कहा, "इस तरह के अवलोकन का मतलब है कि अल्जाइमर पैथोलॉजी को कुछ हद तक मस्तिष्क द्वारा कुछ हद तक बर्दाश्त किया जा सकता है, ऐसा प्रतिपूरक प्रक्रिया के कोशिकीय व सिनेप्टिक स्तर पर चलने की वजह से है."

डेंगू का इलाज संभव! ‘मोनोक्लोनल एंटीबॉडी' से 2 दिन में जल्द हो सकेगा उपचार

जू ने कहा, "हमारे नए शोध के अनुसार, बीपीएन14770 मल्टीपल बॉयोलॉजिकल प्रक्रियाओं को सक्रिय करने में सक्षम हो सकती है, यह प्रक्रियाएं दिमाग को याददाश्त की कमी, तंत्रिका संबंधी क्षति व बॉयोकेमिकल हानि से रोकती हैं."

VIDEO: डॉक्टर्स ऑन कॉल : क्या हैं अल्जाइमर्स डिमेंशिया के लक्षण?

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com