अनुपम खेर ने अपने फेशियल पैरालिसिसी और डिप्रेशन पर की बात, कहा- ''हम आपके हैं कौन की शूटिंग...''

बॉलीवुड एक्टर अनुपम खेर (Anupam Kher) ने डिप्रेशन (Depression) के साथ अपनी जंग के ऊपर बात की. 

अनुपम खेर ने अपने फेशियल पैरालिसिसी और डिप्रेशन पर की बात, कहा- ''हम आपके हैं कौन की शूटिंग...''

अनुपम खेर (Anupam Kher) ने हाल ही में अपने डिप्रेशन और फेशियल पैरालिसिस पर बात की.

नई दिल्ली:

किसी भी इंसान के लिए अपने मानसिक स्वास्थ्य (Mental Health) का ध्यान रखना उतना ही जरूरी है जितना कि शारीरिक स्वास्थ्य (Physical Health) का खयाल रखना. क्योंकि अंत में किसी भी मनुष्य को खुश और अच्छे से जीवन बिताने के लिए इन दोनों चीजों की आवश्यकता होती है. हाल ही में बॉलीवुड एक्टर अनुपम खेर (Anupam Kher) ने डिप्रेशन (Depression) के साथ अपनी जंग के ऊपर बात की. 

हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, दिग्गज अभिनेता अनुपम खेर (Veteran Actor Anupam Kher) डिप्रेशन जैसी मानसिक बीमारी से पीड़ित थे. इस बारे में बात करते हुए अनुपम खेर ने कहा, ''मुझे क्लिनकल डायग्नोसिस के बाद बताया गया था कि मैं मैनिक डिप्रेशन (Manic Depression) से पीड़ित हूं. इसलिए मैं डॉक्टर के पास गया, दवाई ली और आगे बढ़ गया''. 

उन्होंने कहा, ''हमें अपने तरीके से डील करना होता है और परिवार और दोस्तों को समझना चाहिए कि अगर कोई अकेलापन महसूस कर रहा है या इस तरह से व्यवहार कर रहा है तो उसे उस स्थिति से बाहर निकालना बेहद जरूरी है''. इसके साथ ही उन्होंने ये भी बताया कि वह फेशियल पैरालिसिस (Facial Paralysis) से ग्रसित थे. उन्होंने बताया कि फिल्म ''हम आपके हैं कौन'' की शूटिंग के दौरान इस बीमारी से ग्रसित थे. 

उन्होंने कहा, ''जब मैं ''हम आपके हैं कौन'' की शूटिंग कर रहा था तो मुझे फेशियल पैरालिसिस था. इसलिए मैं सूरज बरजात्या के पास गया और कहा कि मेरा चेहरा ठीक नहीं है लेकिन मैं शूटिंग के लिए तैयार हूं. जब आप इस तरह की परिस्थितियों का सामना करते हैं तो आपका खुद पर भरोसा बढ़ता है.'' 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

एक्टर ने कहा कि फेल हो जाना एक स्थिति है और एक मनुष्य नहीं. उन्होंने कहा, ''आपको वो करते रहना चाहिए, जो आपको लगता है कि सही है और फिर कुछ सालों बाद आपको खुद को बदलना पड़ता है अपने क्राफ्ट को बदलना पड़ता है और आगे बढ़ते रहना होता है. आपको हमेशा एक्सप्लोर करते रहना होता है और हर दिन की शुरुआत नए सिरे से करनी होती है. ''

लॉकडाउन के बारे में बात करते हुए अनुपम खेर ने कहा, ''एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री इसके लिए तैयार नहीं थी. बहुत से लोग आर्थिक और भावनात्मक स्तर पर इससे जूझ रहे हैं. हालांकि, मुझे लगता है कि स्थिति जल्द ही ठीक हो जाएगी. बाहर शूटिंग करना, अंदर स्टूडियो में शूटिंग करने से ज्यादा आसान होता है. जरूरत की वजह से नई चीजों का इंवेंशन होता है और इसलिए मुझे लगता है कि हम जल्द ही इस स्थिति से बाहर निकलने का रास्ता निकाल लेंगे''.