ब्रेस्ट से लीवर तक, अब 8 तरह के कैंसर का पता लगाएगा ये एक ब्लड टेस्ट

इस परीक्षण में कई ट्यूमर प्रकारों के लिए वन-स्टॉप परीक्षण बनने की संभावना है, जिसे वृहद पैमाने पर स्वीकार किया जाना चाहिए.

ब्रेस्ट से लीवर तक, अब 8 तरह के कैंसर का पता लगाएगा ये एक ब्लड टेस्ट

नए रक्त परीक्षण से 8 तरह के कैंसर का पता चलेगा

खास बातें

  • आठ तरह के कैंसर का पता लगाएगा एक टेस्ट
  • ये रक्त परीक्षण बचा सकेगा लोगों की जान
  • नई रिसर्च में हुआ खुलासा
नई दिल्ली:

साइंस दिनोंदिन तरक्की कर रहा है. इससे ना सिर्फ लोगों को अपनी बीमारियां ठीक करने मदद मिल रही है बल्कि वक्त से पहले ही बीमारी की रोकथाम में भी सहायता हो रही है. ऐसी ही एक रिसर्च हुई है जिसमें आठ तरह के कैंसर की पहचान आसानी से हो सकेगी.

जिस बीमारी से हर साल मरते हैं 5 लाख से ज़्यादा लोग, अब उसे ठीक करेगा Toothpaste 

इस एक नए रक्त परीक्षण से आठ तरह के सामान्य कैंसर के शरीर में फैलने और मरीजों के जीवन को जोखिम होने से पहले ही शुरुआती अवस्था में ही पहचान हो सकेगी. इसका विकास ऑस्ट्रेलिया के शोधकर्ताओं ने किया है. 

'अकेलेपन' को दूर करने के लिए आ गए हैं मंत्री, जनता को यूं खुश करेगी सरकार

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, ऑस्ट्रेलिया के वाल्टर एंड एलिजा हॉल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल रिसर्च ने कहा कि नया परीक्षण अंडाशय, लीवर, पेट, पैंक्रियाज, ऑसोफोगस, आंत, फेफड़ों और स्तन को प्रभावित करने वाले कैंसर का शुरुआत में ही पता लगाने में सक्षम होगा.

महिलाओं को रुलाने के लिए इस शख्स को मिलते हैं पैसे, करता है ऐसा काम

संस्थान के एसोसिएट प्रोफेसर जेयने टाई ने कहा, "इस परीक्षण में कई ट्यूमर प्रकारों के लिए वन-स्टॉप परीक्षण बनने की संभावना है, जिसे वृहद पैमाने पर स्वीकार किया जाना चाहिए."

कैंसर हो जाने पर मरीज के जिंदा बचने की दर सीधे इससे जुड़ी है कि परीक्षण के दौरान मरीज का कैंसर किस अवस्था में है. जितनी शुरुआती अवस्था में कैंसर का पता चलता है, मरीज के बचने की दर भी उतनी ही अधिक होती है. इसका मतलब यह है कि वर्तमान में ऐसे रक्त परीक्षण की अत्यंत जरूरत है, जो शुरुआती अवस्था में ही कैंसर की सटीकता से पता लगा सकें.

नए रक्त परीक्षण के बारे में साइंस जर्नल में जानकारी प्रकाशित हुई है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

 देखें वीडियो - हमारे ज्ञान में विज्ञान की कितनी जगह?​