NDTV Khabar

जिम या योगा नहीं, इस तरीके से चलने पर आप हो सकते हैं FIT

धीरे-धीरे चलने की तुलना में औसत गति से चलने से सभी तरह की मृत्युदर में 20 फीसदी की कमी आती है, जबकि तेज गति से चलने से 24 फीसदी की कमी आती है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जिम या योगा नहीं, इस तरीके से चलने पर आप हो सकते हैं FIT

तेजी से चलें, स्वस्थ व दीर्घायु रहें

नई दिल्ली: अगर बिना जिम या एक्सरसाइज़ के फिट रहना चाहते हैं तो तेज़ी से चलना शुरू कर दें. तेज़ चलने से ना सिर्फ आप फिट रहेंगे बल्कि दिल से जुड़ी बीमारियों का खतरा भी कम हो जाएगा. एक रिसर्च के मुताबिक औसत गति से चलने से दिल संबंधी बीमारियों की मृत्युदर में 21 फीसदी की कमी आती है और तेज गति से चलने वालों की मृत्युदर में 24 फीसदी की कमी देखी गई है.

धीरे-धीरे चलने की तुलना में औसत गति से चलने से सभी तरह की मृत्युदर में 20 फीसदी की कमी आती है, जबकि तेज गति से चलने से 24 फीसदी की कमी आती है.

ठंडा पानी पीने के नुकसान, सर्दी-खांसी ही नहीं इन 5 परेशानियों की वजह है Cold Water

सिडनी विश्वविद्यालय के चार्ल्स परकिंस सेंटर व स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के प्रोफेसर एमानुएल स्टामाटेकिस ने कहा, "नतीजों पर सेक्स या बॉडी मास इंडेक्स पर प्रभाव नहीं दिखता है, औसत या तेज गति से चलना सभी तरह के मृत्युदर के खतरे को विशेष रूप से कम करता है. हालांकि, ऐसा कोई साक्ष्य नहीं है कि तेजी से चलने से कैंसर की मृत्युदर पर असर पड़ता है."

दिल को रखना चाहते हैं जवां तो हफ्ते में 5 बार करें ये काम​

टिप्पणियां
उन्होंने कहा, "तेज गति आमतौर पर पांच से सात किलोमीटर प्रति घंटा होती है, लेकिन यह वास्तव में चलने वाली की फिटनेस स्तर पर निर्भर करता है."  (इनपुट - आईएएनएस)

देखें वीडियो - स्वस्थ दिल के लिए रोजाना कितना व्यायाम करें
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement