Carrot Juice for Acne: मुंहासों से छुटकारा पाने के लिए इन आसान तरीकों से करें गाजर के जूस का इस्तेमाल

अंत में महिलाओं को मुंहासों को छिपाने के लिए मेकअप का ही इस्तेमाल करना पड़ता है लेकिन इससे भी कई बार स्थिति और अधिक खराब हो जाती है. पोर्स के बंद हो जाने की वजह से और अधिक मुंहासे होने लगते हैं.

Carrot Juice for Acne: मुंहासों से छुटकारा पाने के लिए इन आसान तरीकों से करें गाजर के जूस का इस्तेमाल

Carrot Juice for Acne: आप भी इन आसान तरीकों से करें गाजर के जूस का इस्तेमाल.

खास बातें

  • गाजर के जूस में विटामिन ए और सी होता है.
  • इसके साथ इसमें मौजूद एंटीऑक्सिडेंट्स त्वचा को हील करने का काम करते हैं
  • ये मुंहासों को दूर रखने में कई तरह से कारगर है
नई दिल्ली:

Carrot For Acne in Hindi: मुंहासें किसी के लिए भी बहुत बड़ी समस्या हो सकते हैं. कई बार तो हमें पता भी नहीं चल पाता है कि ये किस तरह से हमारी जिंदगी को प्रभावित कर रहे हैं. मुंहासों (Acne) की वजह से अक्सर ही लोग अधिक कॉन्शियस महसूस करने लगते हैं और इस वजह से व्यक्ति की सोशल जिंदगी (Social Life) को काफी प्रभावित करती है. अंत में महिलाओं को मुंहासों को छिपाने के लिए मेकअप का ही इस्तेमाल करना पड़ता है लेकिन इससे भी कई बार स्थिति और अधिक खराब हो जाती है. पोर्स के बंद हो जाने की वजह से और अधिक मुंहासे होने लगते हैं. इसलिए मुंहासों के बढ़ने से पहले इनका इलाज किया जाना बहुत जरूरी है. 

साथ ही हमारे पास एक ऐसी सामग्री है, जो कुछ ही मिनटों में आपके मुंहासों को दूर कर देगी. जी हां हम यहां गाजर के जूस की बात कर रहे हैं. ये वही गाजर का जूस है, जिसे आप सेहतमंद रहने के लिए पीते हैं लेकिन बता दें, कि ये मुंहासों से छुटकारा पाने के लिए भी बहुत उपयोगी होता है. हालांकि, अगर आप सोच रहे हैं कि गाजर का जूस मुंहासों से छुटकारा पाने के लिए कैसे इस्तेमाल करते हैं तो हम आपको नीचे इसका जवाब देने वाले हैं. 

मुंहासों के लिए गाजर का जूस क्यों है उपयोगी? (How Carrot Juice Help to get rid of Acne)
दरअसल, गाजर के जूस में काफी अधिक मात्रा में विटामिन ए और सी होता है. विटामिन ए एक प्राकृतिक एंटीऑक्सिडेंट है जो स्किन सेल्स के प्रोडक्शन को बढ़ाता है और त्वचा के ग्लो को भी बढ़ाता है. साथ ही ये आपकी त्वचा को सूरज की हानिकारक किरणों से बचाता है. साथ ही ये मुंहासों से छुटकारा दिलाने में भी मदद करता है. 

गाजर के जूस में मौजूद विटामिन सी कोलाजन प्रोडक्शन को बूस्ट करता है. कोलाजन की मदद से आपकी त्वचा की इलास्टिसिटी बढ़ती है, जो त्वचा को स्मूथ और सोफ्ट बनाती है. साथ ही एंटीऑक्सिडेंट होने की वजह से ये त्वचा को ठीक होने में मदद करता है. 

इसके अलावा गाजर के जूस में पोटैशियम, कैल्शियम, सोडियम और बेटा- कैरोटीन होता है, जो त्वचा के लिए काफी लाभकारी होता है और त्वचा को मुंहासों से दूर भी रखता है. 

मुंहासों से छुटकारा पाने के लिए इन तरीकों से करें गाजर के रस का इस्तेमाल

1. गाजर के जूस का मास्क
आप सिर्फ गाजर के जूस का मास्क भी अपनी त्वचा को मुंहासों से बचाने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं. 

आपको चाहिए
- 2 टेबलस्पून फ्रेश गाजर का जूस
- एक कॉटन पैड

ऐसे करें इस्तेमाल
- अपने चेहरे को क्लेंज कर लें और सुखा लें.
- अब रुई को गाजर के जूस में डुबो कर अपने चेहरे पर लगाएं.
- जूस के सूखने तक इसे चेहरे पर लगा रहने दें.
- इसके बाद अपने मुंह को पानी से धो लें.
- बेहतर नतीजों के लिए आप रोज इस नुस्खें का प्रयोग करें.

2. गाजर का जूस और समुद्री नमक
समुद्री नमक में एंटीबैक्टीरियल प्रोपर्टीज होती हैं, जो हानिकारक बैक्टीरिया को दूर रखता है और त्वचा को साफ रखता है. इसके अलावा साथ ही से त्वचा को मोइश्चराइज भी करता है. समुद्री नमक त्वचा पर निकलने वाले तेल को संतुलित करता है, जिससे मुंहासें नहीं होते हैं. 

आपको चाहिए
- 1 टेबलस्पून गाजर का जूस
- 1 टेबलस्पून समुद्री नमक
- रुई

ऐसे करें इस्तेमाल
- एक कटोरे में, गाजर का जूस लें.
- अब इसमें समुद्री नमक डालें और मिला लें.
- इस मिक्स्चर को प्रभावित हिस्से पर सर्कुलर मोशन में लगाएं.
- अपने चेहरे पर इसके सूखने तक इसे लगा रहने दें.
- हल्के गर्म पानी से अपना मुंह धो लें.
- इस नुस्खें को एक दिन छोड़ कर एक दिन लगाएं, इससे आपको जल्द ही चेहरे पर असर दिखाई देने लगेगा. 

3. गाजर का जूस और जैतून का तेल
जैतून के तेल में जरूरी फैटी एसिड और एंटीऑक्सिडेंट प्रोपर्टीज होती हैं, जो त्वचा को हील करती हैं. जैतून का तेल आपकी त्वचा को मोइश्चराइज करता है और पोर्स को खोलता है. 

आपको चाहिए
- 2 टेबलस्पून गाजर का जूस
- 1 टीस्पून जैतून का तेल
- रुई

ऐसे करें इस्तेमाल
- एक कटोरी में दोनों चीजों को मिलाएं.
- इस मिक्स्चर को प्रभावित हिस्से में लगाएं.
- 10 से 15 मिनट के लिए इसे लगा रहने दें.
- इसके बाद अपना मुंह धो लें.
- बेहतर नतीजों के लिए हफ्ते में एक बार इस नुस्खें का प्रयोग करें.

4. गाजर का जूस और मुल्तानी मिट्टी
मुंहासें होने का प्रमुख कारण ऑयली स्किन होता है. पोर्स में जरूरत से अधिक तेल निकलने की वजह से मुंहासें होते हैं. वहीं मुल्तानी मिट्टी ऑयली स्किन के लोगों के लिए बहुत अच्छी होती है क्योंकि ये तेल को सोख लेती है. साथ ही ये त्वचा को साफ भी करती है. 

Newsbeep

आपको चाहिए
- 1 गाजर
- मुल्तानी मिट्टी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


ऐसे करें इस्तेमाल
- गाजर का जूस निकालें और एक कटोरी में निकाल लें.
- अब इसमें मुल्तानी मिट्टी डाल कर पेस्ट बना लें.
- इस पेस्ट को अपने चेहर पर लगाएं और 15 मिनट के लिए छोड़ दें.
- अब हल्का गर्म पानी से मुंह धो लें.
- इस रेमिडी को हफ्ते में 1 बार लगाएं.