केरल में मुर्गियों ने दिए हरी जर्दी वाले अंडे तो वैज्ञानिकों ने की रिसर्च, बताया क्या है इसके पीछे का कारण

घटना के सामने आने के बाद केरल में जानवरों के डॉक्टर और एनिमल साइंस यूनिवर्सिटी ने इस पर रिसर्च की. उन्होंने मामले को पूरी तरह से समझा.

केरल में मुर्गियों ने दिए हरी जर्दी वाले अंडे तो वैज्ञानिकों ने की रिसर्च, बताया क्या है इसके पीछे का कारण

सोशल मीडिया पर यह वीडियो काफी वायरल हुआ था.

नई दिल्ली:

हल्के पीले से लेकर ऑरेंज रंग तक मुर्गी के अंडे की जर्दी का रंग अलग-अलग होता है लेकिन इससे ज्यादा अलग यह कभी नहीं होता. हालांकि, कुछ वक्त पहले एक ऐसा मामला सामने आया जहां, केरल के एक फार्म में मुर्गियों ने हरी जर्दी वाले अंडे दिए. इससे भी ज्यादा अजीब यह था कि इस फार्म के मालिक ने यह दावा किया कि इनका स्वाद बिलकुल दूसरे अंडों जैसा ही है. 

यह खबर उस वक्त सामने आई जब एक महीने पहले शिहाबुद्दीन एक ने अपने फेसबुक पर इसकी कुछ तस्वीरें और वीडियो शेयर की. यहां देखें शिहाबुद्दीन द्वारा शेयर की गई एक तस्वीर, जिसमें अंडे की जर्दी हरे रंग की नजर आ रही है. 

वहीं इसके बाद शिहाबुद्दीन ने एक वीडियो भी शेयर किया, जिसमें वह उबले हुए अंडे खाता हुआ नजर आ रहा है. 

शिहाबुद्दीन की इस पोस्ट पर लोगों ने अलग-अलग रिएक्शन दिए. किसी ने इसे एलियन अंडे कहा तो वहीं किसी ने इसे जेनेटिक कारण बताया. एक यूजर ने लिखा, ''यह कैसे हो सकता है''. वहीं एक अन्य ने कहा,'' क्या यह मुर्गी वेगन हैं?''

हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, घटना के सामने आने के बाद केरल में जानवरों के डॉक्टर और एनिमल साइंस यूनिवर्सिटी ने इस पर रिसर्च की. उन्होंने मामले को पूरी तरह से समझा. अंत में रिसर्च खथ्म होने के बाद उन्होंने बेहत ही आसान शब्दों में इसका कारण समझाया. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

वैज्ञानिकों के मुताबिक, मुर्गियों पर की गई स्टडी में सामने आया है कि उन्हें जो चीज खाने में दी जाती है, उसी पर उनके अंडों की जर्दी आधारित होती है. डॉ. एस सनकारालिंगम ने कहा, जब हमने यूनिवर्सिटी में उन्हें खाना खिलाया तो उन्होंने पीली जर्दी वाले ही अंडे दिए. 

बाद में फार्म के मालिक ने बताया कि वह मुर्गियों को खाने में प्लांट्स और हर्ब्स दिया करता था और इसी वजह से मुर्गियों के अंडे का रंग बदल गया था.