NDTV Khabar

बच्चों की दूर की नजर कमजोर कर रही है ये आदत, जानें इसे ठीक करने के Tips

जितना ज्यादा वक्त बच्चा मोबाइल, टैब, लैपटॉप आदि पर बिताया जाएगा, चश्मा लगने का जोखिम उतना ही बढ़ेगा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बच्चों की दूर की नजर कमजोर कर रही है ये आदत, जानें इसे ठीक करने के Tips

मोबाइल, टैब और लैपटॉप आपके बच्चे की दूर की नजर कमजोर कर रहा है: एम्स विशेषज्ञ

खास बातें

  1. कम्प्यूटर के आगे ना बैठने दें
  2. सस्ते काजल ना लगाएं
  3. आंखों को रगड़ने से रोकें.
नई दिल्ली: आजकल मां-बाप बच्चों को व्यस्त रखने के लिए उन्हें मोबाइल या लैपटॉप पकड़ा देते हैं. इन गैडेट्स में बिज़ी होकर वो उन्हें परेशान नहीं करते और ना ही रोते हैं. इस तरीके से मां-बाप अपना काम कर पाते हैं. लेकिन उनकी ये ट्रिक बच्चों की आंखों की सेहत के लिए बिल्कुल अच्छी नहीं.

बच्चों को देना चाहते हैं मोबाइल फोन? तो ये है सही उम्र और तरीका​

अखिल भारतीय अयुर्विज्ञान संस्थान यानी AIIMS के डॉक्टरों का मानना है कि मोबाइल, टैब, और लैपटॉप पर अत्याधिक समय बिताने और बाहरी गतिविधियों की कमी से बच्चों की दूर की नजर कमजोर हो रही है. डॉक्टरों ने बताया कि लगातार नजदीक से देखने के कारण आंखों पर जोर पड़ता है और आंखों की मांसपेशियां कमजोर होती हैं. जितना ज्यादा वक्त मोबाइल, टैब, लैपटॉप आदि पर बिताया जाएगा, चश्मा लगने का जोखिम उतना ही बढ़ेगा.

अब बच्चों की आंखें नही होंगी कमज़ोर, अगर करेंगे ये आसान उपाय

इसीलिए जितना हो सके बच्चों को इनसे दूर रखें, ताकि भविष्य में उन्हें पढ़ने में दिक्कत ना हो. उनकी आंखों को बचाने के लिए नीचे दी गई बातों को फॉलो करें:

...तो इस वजह से भारतीय बच्चों को जल्दी लग रहा है चश्मा

टिप्पणियां
1. बच्चों को पालक, गाजर और चुकंदर खिलाएं. इसी के साथ पीले फल जैसे पपीता और आम भी खिलाएं.
2. एक तय समय के बाद उन्हें कम्प्यूटर के आगे ना बैठने दें. 
3. बच्चा टीवी देखने का शौकीन हो तो उसे भी दूरी पर लगाएं. 
4. बच्चों की आंखों पर बाजार से मिलने वाले सस्ते काजल ना लगाएं.
5. उन्हें आंखों को रगड़ने से रोकें. 

देखें वीडियो - तन्हा बुढ़ापा
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement