Coronavirus Lockdown के बीच महिला ने रखी सभा, पुलिस ने किया मना तो हाथ में तलवार पकड़ हो गई खड़ी और फिर...

खुद को भगवान का रूप मानने वाली इस महिला ने बुधवार सुबह एक धार्मिक सभा का आयोजन किया और इसे समाप्त करने से इनकार कर दिया. महिला ने पुलिसकर्मियों को तलवार से भी रोकने की कोशिश और 21 दिनों तक घर में बंद रहने के आदेश को मानने से मना कर दिया.

Coronavirus Lockdown के बीच महिला ने रखी सभा, पुलिस ने किया मना तो हाथ में तलवार पकड़ हो गई खड़ी और फिर...

यह महिला खुद को मां आदि शक्ति मानती है.

लखनऊ:

कोरोनावायरस (Coronavirus) के चलते देशभर में 21 दिन का लॉकडाउन घोषित किए जाने के बाद लखनऊ (Lucknow) में एक महिला बुधवार को लाल रंग की सिल्क की साड़ी में हाथ में तलवार लिए पुलिसवालों के सामने खड़ी हो गई और कहने लगी कि ''हिम्मत है तो मुझे हटा कर दिखाओ''. इस घटना का एक वीडियो भी सामने आया है. हालांकि, पुलिसवालों की बात न मानने के बाद कुछ महिला पुलिसकर्मियों (Women Cops) ने उसे गिरफ्तार कर लिया.

दरअसल, खुद को भगवान का रूप मानने वाली इस महिला ने बुधवार सुबह एक धार्मिक सभा का आयोजन किया और इसे समाप्त करने से इनकार कर दिया. महिला ने पुलिसकर्मियों को तलवार से भी रोकने की कोशिश और 21 दिनों तक घर में बंद रहने के आदेश को मानने से मना कर दिया. इस कारण पुलिस को लाठीचार्ज के जरिए श्रद्धालुओं को हटाना पड़ा. इनमें से कुछ श्रद्धालु सीधे बिहार से आए थे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) द्वारा लॉकडाउन की घोषणा के अगले दिन ही खुद को मां आदि शक्ति मानने वाली इस महिला ने धार्मिक सभा का आयोजन किया और सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने के सभी नियमों का उलंघन करते हुए नजर आई. आपको बता दें, देशभर में अब तक कोरोनावायरस (COVID-19) के 560 मामले सामने आ चुके हैं. 

qmadpg2

उत्तर प्रदेश के देवरिया के मेधा पूर्वा में स्थित महिला के घर पर बुधवार को 100 लोग इक्ट्ठे हुए थे. आपको बता दें, देवरिया लखनऊ से लगभग 300 किलोमीटर दूर स्थित है. किसी ने पुलिस को इसकी जानकारी दी, जिसके बाद कुछ पुलिसकर्मी लाठियों के साथ पहुंचे. इसके बाद पुलिस लगातार वहां मौजूद भक्तों और महिला को लाउडस्पीकर के जरिए समझाती रही और उन्हें अपने-अपने घर जाने के लिए कहा. 

वीडियो फुटेज में महिला, पुलिस की तरफ तलवार उठाते हुए नजर आती है. हालांकि, महिला को गिरफ्तार किए जाने के बाद अब इलाके में शांति का माहौल है और सभी लोग अपने घरों में बंद हैं.