COVID-19 की हेल्‍पलाइन पर फोन कर शख्‍स ने मंगवाए गरमा-गरम समोसे, डीएम ने पूरी की Wish, लेकिन...

Coronavirus Helpline Numbers: हेल्‍पलाइन पर ढेर सारे ऐसे लोग फोन कर रहे हैं जिन्‍हें या तो समोसे चाहिए या पिज्‍जा.

COVID-19 की हेल्‍पलाइन पर फोन कर शख्‍स ने मंगवाए गरमा-गरम समोसे, डीएम ने पूरी की Wish, लेकिन...

Coronavirus Helpline: हेल्‍पलाइन नंबर पर समोसे मांगने वाले शख्‍स से डीएम ने इस तरह करवाई नाले की सफाई

रामपुर:

कोरोनावायरस लॉकडाउन (Coronavirus Lockdown) के मद्देनजर लोगों की मदद करने के लिए केंद्र सरकार और राज्‍य सरकारों ने हेल्‍पलाइन नंबर जारी किए हैं. आम जनता इन नंबरों पर फोन करके खाने-पीने का सामान, दवाइयां, और दूसरी तरह की मदद मांग सकती है. 

उत्तर प्रदेश सरकार को भी इन हेल्‍पलाइन नंबरों पर ढेर सारे फोन कॉल आ रहे हैं, लेकिन रविवार को उन्‍हें एक अजीबो-गरीब मांग से दो-चार होना पड़ा. दरअसल, रामपुर के डीएम कार्यालय को रामपुर की स्‍वर तहसील से एक आदमी ने फोन किया और चटनी के साथ चार समोसों की होम डिलवरी की मांग कर डाली.

डीएम अंजनेय कुमार ने अपने ऑफिशियल हैंडल से ट्वीट कर जानकारी दी कि उस शख्‍स ने बार-बार कंट्रोल रूम में फोन करके कर्मचारियों को परेशान कर दिया.

फिर क्‍या था उस शख्‍स को चार समोसे भिजवाने पड़े. लेकिन, इन गरमा-गरम समोसों के बदले उसे सजा भी दी गई. कर्मचारियों को परेशान करने और उनका समय बर्बाद करने के लिए उस शख्‍स को यह सजा दी गई. उस शख्‍स को सजा के रूप में पास की नाली की सफाई करवाई गई.

इससे पहले एक शख्‍स ने कंट्रोल रूम में फोन कर पिज्‍जा की मांग की थी. अधिकारियों के मुताबिक, "हमें हेल्‍पलाइन पर ढेर सारे ऐसे लोग फोन कर रहे हैं जिन्‍हें या तो समोसे चाहिए या पिज्‍जा. अब हमने ऐसे लोगों को जनता के सामने लाना शुरू कर दिया है ताकि दूसरे लोग भी महामारी से उपजे हालातों का मजाक न बना सकें."

और तो और लोगों ने वॉट्सऐप्‍प हेल्‍पलाइन नंबरों पर टिकटॉक वीडियोज़ बनाकर भेजने शुरू कर दिए हैं. इन वीडियोज़ में मजाक उड़ाया जा रहा है. ऐसे में अधिकारियों ने मजाक उड़ाने वाले लोगों को आसपास के इलाकों की सफाई करने के काम में लगा दिया है ताकि उन्‍हें सबक सिखाया जा सके.

डीएम ने यह भी बताया कि जो लोग बीपीएल कैटगरी में नहीं आते हैं वे भी फोन करके मुफ्त में खाना और राशन मांग रहे हैं. ऐसे लोगों के गैर-जिम्‍मेदाराना बर्ताव से तंग आकर अब अधिकारियों ने उनकी हरकतों को सरेआम बताना शुरू कर दिया है. हालांकि उनकी प्राइवेसी को ध्‍यान में रखते हुए चेहरों को ब्‍लर कर दिया गया है. इसी के साथ डीएम ने लोगों से अपील की है कि वे प्रशासन के धैर्य की परीक्षा न लें.

डीएम ने यह भी कहा है कि अगर लोग इस तरह फोन कॉल करेंगे और अधिकार‍ियों के समय की बर्बादी करेंगे तो प्रशासन उनका चेहरा भी दिखाना शुरू कर देगा.

बहरहाल, साफ है कि इन हरकतों से पता चल जाता है कि लोग कोरोनावायरस और उससे उपजे हालातों के प्रति ज़रा भी गंभीर नहीं है और बेहद लापरवाह हैं. हेल्‍पलाइन नंबर इसलिए जारी किए गए हैं ताकि जरूरतमंदों की मदद की जा सके न कि गैर-जरूरी मांगों को पूरा किया जाए.

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com