महिलाओं को रुलाने के लिए इस शख्स को मिलते हैं पैसे, करता है ऐसा काम

तेराई कोई आम शख्स नहीं बल्कि लेखक हैं जो अब तक 11 किताबें लिख चुके हैं. यह 'क्राइंग सर्विस' के फाउंडर भी हैं.

महिलाओं को रुलाने के लिए इस शख्स को मिलते हैं पैसे, करता है ऐसा काम

महिलाओं को रुलाओ और पैसे कमाओ, ये आदमी कर रहा ये बिजनेस

खास बातें

  • हैंडसम आदमी आरतों को रुलाते हैं
  • इस ग्रुप की शुरूआत 2015 में हई
  • क्राइंग सर्विस के फाउंडर हैं हिरोकी तेराई
नई दिल्ली:

कहा जाता है कि ज़िंदगी में हमेशा खुश रहना चाहिए कभी भी उदास और रोना नहीं चाहिए. इसी वजह से दिल को दुखाने और आंखों में आंसू लाने वाली बातों और चीज़ों से हर कोई दूर ही रहना पसंद करता है, खासकर महिलाएं. लेकिन क्या आप इमैजिन कर सकते हैं कि महिलाओं को रुलाना भी एक पेशा हो सकता है? जी हां, महिलाओं को रुलाओ और पैसे कमाओ. ये काम जापान के हिरोकी तेराई नाम का शख्स कर रहा है. 

इस भारतीय कपल ने 40 देश में अलग-अलग तरह से किया KISS, फोटोज वायरल

तेराई कोई आम शख्स नहीं बल्कि लेखक हैं जो अब तक 11 किताबें लिख चुके हैं. यह 'क्राइंग सर्विस' के फाउंडर भी हैं. जो इस सर्विस में 'रुई-कातसु' यानी 'टियर-सीकिंग' नाम का क्राइंग सेशन चलाते हैं. इसमें महिलाएं हिस्सा लेती हैं और रोती हैं. 

यूपी की इस लड़की ने बनाया 'रेप प्रूफ' अंडरवियर, इसमें लगा है वीडियो कैमरा और जीपीएस

कई खोजबीन के बाद तेराई ने अपना ये ग्रुप बनाया और पाया कि रोने से स्ट्रेस कम होता है. तेराई ने अपने इस ग्रुप की शुरूआत 2015 में की. इस ग्रुप की सबसे खास बात यह है कि यहां हैंडसम आदमी ही औरतों को रुलाते हैं. क्योंकि ज़्यादा सुंदर दिखने वाले मर्दों के सामने ही महिलाएं ज़्यादा इमोशनल होती हैं, जिससे वो जल्दी रो पाती हैं. 

भरपूर खाएं और इन 3 Steps से कम करें अपना मोटा पेट

इस ग्रुप में ज़्यादातर तलाकशुदा, अपनी जॉब से परेशान या फिर अपने पार्टनर से परेशान औरतें ही आती हैं.  

देखें वीडियो - तीन तलाक बराबरी के हक़ का उल्‍लंघन?
 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com