NDTV Khabar

हेयरकट के बाद नाई से मसाज कराने पर गर्दन में लकवा, ता-उम्र रहना पड़ेगा वेंटिलेटर पर

दिल्‍ली के एक शख्‍स को हेयरकट के बाद मसाज करवाना महंगा पड़ गया. उनकी गर्दन को लकवा मार गया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
हेयरकट के बाद नाई से मसाज कराने पर गर्दन में लकवा, ता-उम्र रहना पड़ेगा वेंटिलेटर पर

नेक क्रैक करवाने से बचें

खास बातें

  1. नेक क्रैक के बाद अजय जब घर लौटे तो वो सांस नहीं ले पा रहे थे
  2. जांच में पता चला क‍ि गर्दन की नसों में लकवा मार गया है
  3. अब अजय को पूरी जिंदगी वेंटिलेटर पर काटनी पड़ेगी
नई द‍िल्‍ली : भारत में हेयरकट के बाद नेक क्रैक यानी कि चटकाकर गर्दन की मसाज करवाना आम बात है. नेक क्रैक में नाई मालिश करते हुए ग्राहक की ठुड्डी पकड़कर गर्दन बाएं या दाएं ओर घुमाते हैं. हालांकि यह काफी रिलैक्‍सिंग होता है, लेकिन कई बार इसके गंभीर परिणाम भी हो सकते हैं. ऐसा ही कुछ दिल्‍ली में एक शख्‍स के साथ हुआ है जिनके लिए मसाज बहुत महंगी साबित हो गई. 

महिलाओं को ज्‍यादा झेलन पड़ता है गर्दन का दर्द

दरअसल, 54 वर्षीय अजय कुमार बाल कटावकर जब घर वापस आए तो वह तरोताजा महसूस कर रहे थे. सबकुछ ठीक था लेकिन कुछ देर बार उन्‍हें सांस लेने में तकलीफ होने लगी. डॉक्‍टरों ने एक के बाद एक कई टेस्‍ट किए. उन्‍हें लग रहा था कि शायद दिल या फेफड़ों में आई किसी परेशनी की वजह से वह सांस नहीं ले पा रहे हैं. लेकिन जांच के दौरान पता चला कि गर्दन चटकाने की वजह से फ्रेनिक नस को नुकसान पहुंच गया था. आपको बता दें कि फ्रेनिक नस डायाफ्राम को कंट्रोल करती है. इसके बदले डायाफ्राम सांस लेने की प्रक्रिया को नियमित रखता है.

टाइम्‍स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक मेदांता अस्‍पताल के डॉक्‍टर आनंद जायसवाल ने बताया कि अजय के डायाफ्राम को लकवा मार गया है और अब उन्‍हें अपनी पूरी जिंदगी वेंटिलेटर पर रहना होगा क्‍योंक यह नस अपने आप ठीक नहीं हो पाती है. उनके मुताबिक, 'हेयर कट के बाद नाई जो गर्दन की मसाज और नेक क्रैक करते हैं उससे गर्दन के जोड़ों, आसपास के टिश्‍यू, मांसपेश‍ियों और नसों को नुकसान पहुंचने का खतरा रहता है.  यहां तक कि डायाफ्राम को लकवा भी हो सकता है.'

टिप्पणियां
वैसे यह हादसा हर उस शख्‍स के साथ हो सकता है जो हेयरकट के बाद मसाज करवाने का शौक रखता है. ऐसे में उन लोगों के लिए अजय के बारे में जानना बेहद जरूरी है जो नाई की दुकान में जाकर नेक क्रैक के लिए कहते हैं. हालांकि गर्दन की मसाज आपको थोड़े समय के लिए सुकून जरूर दे, लेकिन इस वाकए से साबित होता है कि गरम पानी से नहाकर और गर्दन से जुड़ी एक्‍सरसाइज करके भी आराम मिल सकता है. वैसे भी ता-उम्र वेंटिलेटर में रहने से अच्‍छा है कि नेक क्रैक से ही दूरी बना ली जाए.

VIDEO


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement