अंतरराष्ट्रीय बुजुर्ग दिवस के अवसर पर हर्षवर्द्धन ने ‘स्वस्थ उम्र वृद्धि’ दशक’ की शुरुआत की

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्द्धन ने बृहस्पतिवार को ‘स्वस्थ उम्र वृद्धि दशक (2020-2030)’ की शुरुआत की. इस अभियान का उद्देश्य बुजुर्गों से संबंधित मुद्दों को मुख्य धारा में लाना है.

अंतरराष्ट्रीय बुजुर्ग दिवस के अवसर पर हर्षवर्द्धन ने ‘स्वस्थ उम्र वृद्धि’ दशक’ की शुरुआत की

अंतरराष्ट्रीय बुजुर्ग दिवस के अवसर पर हर्षवर्द्धन ने ‘स्वस्थ उम्र वृद्धि’ दशक’ की शुरुआत की

नई दिल्ली:

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्द्धन ने बृहस्पतिवार को ‘स्वस्थ उम्र वृद्धि दशक (Healthy Age Growth Decade) (2020-2030) ' की शुरुआत की. इस अभियान का उद्देश्य बुजुर्गों से संबंधित मुद्दों को मुख्य धारा में लाना और उन्हें बेहतर एवं प्रभावी सेवाएं देने के तरीकों पर विचार-विमर्श करना है. हर्षवर्द्धन ने अंतरराष्ट्रीय बुजुर्ग दिवस( International Day of old persons) के अवसर पर स्वस्थ उम्र वृद्धि के सरकार के संकल्प को दोहराया. मंत्रालय ने कहा, कि एक अक्टूबर को संयुक्त राष्ट्र की घोषणा के मुताबिक अंतरराष्ट्रीय बुजुर्ग दिवस मनाया जाता है, ताकि बुजुर्ग लोगों का उनके परिवार, समुदाय और समाज में योगदान को पहचान मिल सके और उम्र वृद्धि से जुड़े मुद्दों के प्रति जागरूकता फैलाई जा सके.  हर्षवर्द्धन ने बुजुर्गों के लिए स्वास्थ्य सुविधा के राष्ट्रीय कार्यक्रम (एनपीएचसीई) के अवसर पर ये बातें कहीं.


International Day of Older Persons 2020: अंतर्राष्ट्रीय वृद्ध जन दिवस के बारे में आप भी जानिए ये 10 बातें

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


एनपीएचसीई का उद्देश्य बुजुर्गों को व्यापक, वहनीय और गुणवत्तापरक देखभाल सेवाएं मुहैया कराना है. इसके तहत सभी जिला अस्पतालों में कम से कम दस बिस्तरों वाले वृद्ध वार्ड की व्यवस्था सुनिश्चित करना और जरूरतमंद वृद्धों को घर पर देखभाल की सुविधा मुहैया कराने की व्यवस्था करने का लक्ष्य है. मंत्रालय ने बताया कि हर्षवर्द्धन ने कहा, कि एक अक्टूबर 2020 स्वस्थ उम्र बढ़ने के दशक की शुरुआत है इसलिए पूरे वर्ष गतिविधियों का आयोजन किया जाएगा. बयान में उनके हवाले से कहा गया, ‘‘यह पहल सरकारों, नागरिक समाज, अंतरराष्ट्रीय एजेंसियों, पेशेवर, अकादमिक, मीडिया और निजी क्षेत्र को एक साथ जोड़ने का अवसर है ताकि वृद्ध लोगों, उनके परिवार और समुदाय का जीवन सुधरे.''



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)