NDTV Khabar

मोटापे से लड़ने में चाहते हैं मदद, तो देखें इस तरह के एड...

ऐसा जरूरी नहीं कि वजन नियंत्रित करने और स्वास्थ्य संबंधी चिंताओं के बारे में बताने से ही लोगों की खाने-पीने की आदतों को बदला जा सकता है, बल्कि वह जो भोजन करने जा रहे हैं, उनके बारे में जानकारी देकर और खाने-पीने की कुछ अच्छी आदतों को बनाये रखकर भी ऐसा किया जा सकता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मोटापे से लड़ने में चाहते हैं मदद, तो देखें इस तरह के एड...
नई दिल्‍ली: अगर आप जंक फूड से छुटकारा पाना चाहते है तो यह खबर आपके लिए फायदेमंद हो सकती है. एक नए अध्ययन के अनुसार हेल्दी फूड के विकल्प वाले होर्डिंग या विज्ञापन लोगों को जंक फूड के प्रति उनके जुनून से बाहर ला सकते हैं. सिडनी विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने चूहों पर इसका परीक्षण किया और उन्हें बिस्कुट, चिप्स, जैली और चाउमीन जैसी चीजें दी.

कैसे बदली जा सकती है आदत
अध्ययन में पता चला कि उच्च वसा और शर्करा वाले स्वादिष्ट भोजन को देखकर चूहों ने अपनी इच्छा से पोषण वाले भोजन का चुनाव करने की क्षमता खो दी. हालांकि अध्ययन में यह भी पता चला कि चूहे इस स्थिति से आसानी से बाहर आ सकते हैं. यह अध्ययन फ्रंटियर्स इन बिहेवियरल न्यूरोसाइंस पत्रिका में प्रकाशित हुआ है.

अध्ययन के अनुसार ऐसा जरूरी नहीं कि वजन नियंत्रित करने और स्वास्थ्य संबंधी चिंताओं के बारे में बताने से ही लोगों की खाने-पीने की आदतों को बदला जा सकता है, बल्कि वह जो भोजन करने जा रहे हैं, उनके बारे में जानकारी देकर और खाने-पीने की कुछ अच्छी आदतों को बनाये रखकर भी ऐसा किया जा सकता है.

असरदार साबित होगा
अस्वास्थ्यकर भोजन करने से रोकने के लिए कई स्मार्टफोन एप विकसित किये गये हैं. सस्ते, उच्च वसा और उच्च शुगर वाले भोजन की बड़ी-बड़ी होर्डिंग्स देखकर मुंह में पानी आ जाता है लेकिन इसी तरह अगर किसी फूड कोर्ट में हेल्दी फूड के विकल्प वाले होर्डिंग लगाये जाये तो यह जंक फूड के प्रति जुनून से लोगों को बाहर निकालने में असरदार हो सकता है.
(इनपुट एजेंसियों से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement