Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

मस्जिद में धूम-धाम से हुई हिन्‍दू जोड़े की शादी, कमेटी ने दुल्हन को दी 2 लाख रुपये के ज्वेलरी

24 साल की अंजू अशोकन ने कुछ सालों पहले अपने पिता को खो दिया था. संसाधनों की कमी के कारण उसकी मां बिंदू, शहर की मस्जिद में अपनी बेटी की शादी के लिए मदद मांगने पहुंची. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मस्जिद में धूम-धाम से हुई हिन्‍दू जोड़े की शादी, कमेटी ने दुल्हन को दी 2 लाख रुपये के ज्वेलरी

केरल की चेरवली मुस्लिम जमात मस्जिद में हिंदू जोड़े की शादी कराई गई.

खास बातें

  1. मस्जिद में कराई गई हिंदू जोड़े की शादी
  2. मस्जिद की कमेटी ने उठाया शादी का पूरा खर्चा
  3. कमेटी ने दुल्हन को दी 2 लाख रुपये की ज्वेलरी
केरल:

हिन्‍दू और मुस्लिम समुदायों के बीच भले ही कितने भेद-भाव क्यों न हों लेकिन अक्सर ही दोनों समुदाय के लोग एकता की मिसाल पेश करते हैं. इसी तरह का एक मामला केरल (Kerala) के कायमकुलम में सामने आया है, जहां एक हिन्‍दू जोड़े की शादी मस्जिद (Mosque) में धूमधाम से कराई गई. दोनों की शादी, केरल के चेरवली मुस्लिम जमात मस्जिद में 19 जनवरी को कराई गई. टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक, 24 साल की अंजू अशोकन ने कुछ सालों पहले अपने पिता को खो दिया था. संसाधनों की कमी के कारण उसकी मां बिंदू, शहर की मस्जिद में अपनी बेटी की शादी के लिए मदद मांगने पहुंची. 

यह भी पढ़ें: यूपी में वक्त पर नहीं आई बारात तो दुल्हन ने पढ़ लिया किसी और से निकाह, जमकर मचा बवाल


चेरवली मुस्लिम जमात मस्जिद के सचिल नुजुमुदेने अलुममुट्टिल ने बताया, ''वह मेरे घर पर अपनी बेटी की शादी के लिए मदद मांगने आई थी. उसने मुझे एक पत्र दिया, जिसे मैंने जमात कमेटी के सामने पेश किया. इसके बाद हमने तय किया कि हम उसकी बेटी की शादी कराने में मदद करेंगे''. उन्होंने कहा, ''जब मैंने इस पत्र को कमेटी के सदस्यों को दिखाया तो सभी अंजू की शादी कराने और सभी व्यव्सथाएं करने के लिए आगे आए. इसके बाद मस्जिद के अंदर ही दोनों की शादी की तैयारियां की गई''. 

टिप्पणियां

इसके बाद 19 जनवरी को मस्जिद में इस जोड़े ने हिन्‍दू रीति-रिवाजों के साथ शादी की. इसके साथ ही मस्जिद ने शादी में शामिल हुए सभी महमानों और रिश्तेदारों को ''साद्य'' (Sadya) भी खिलाया. इसके साथ ही जमात कमेटी ने दुल्हन को 2 लाख रुपये के सोने के जेवरात भी दिए. नुजुमुदेने अलुममुट्टिम ने बताया कि उन्होंने 4000 लोगों के लिए शाकाहारी खाने की व्यवस्था की थी. इसके साथ ही शादी देखने के लिए 250 लोगों के लिए बैठने की व्यवस्था भी की गई थी. 

इसे एकता की मिसाल बताते हुए राज्य के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने भी शादी की रस्म निभा रहे दंपति की तस्वीर को सोशल मीडिया पर शेयर किया है. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... बिहार में यह कैसी 'खिचड़ी' पक रही, तेजस्वी ने नीतीश कुमार के साथ चाय पर आखिर क्या चर्चा की?

Advertisement