NDTV Khabar

पार्टनर के लिए बनना है ‘आम’ से ‘खास’, तो साथी के पैरेंट्स को करना होगा इम्‍प्रेस

अगर आप चाहते हैं कि आपका रिश्‍ता खुशहाल हो और लम्‍बे समय तक आप खुशी-खुशी अपने साथी के साथ जीवन व्‍यतीत कर सकें,  तो आपको अपने साथी के पैरेंट्स को इम्‍प्रेस जरूर करना होगा. अब सवाल उठता है कैसे? तो आपके इस सवाल का जवाब हम आपको इन टिप्‍स के जरिए दे रहे हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पार्टनर के लिए बनना है ‘आम’ से ‘खास’, तो साथी के पैरेंट्स को करना होगा इम्‍प्रेस
किसी भी रिश्‍ते में अगर अपनी जगह बनानी है तो जरूरी है अपने साथी के माता-पिता के दिल में जगह बनाने की. उन्‍हें इग्‍नोर करके आप अपने साथी के लिए कभी भी ‘आम’ से ‘खास’ नहीं बन पाएंगे. ऐसे में अगर आप चाहते हैं कि आपका रिश्‍ता खुशहाल हो और लम्‍बे समय तक आप खुशी-खुशी अपने साथी के साथ जीवन व्‍यतीत कर सकें,  तो आपको अपने साथी के पैरेंट्स को इम्‍प्रेस जरूर करना होगा. अब सवाल उठता है कैसे? तो आपके इस सवाल का जवाब हम आपको इन टिप्‍स के जरिए दे रहे हैं.

कहते हैं फर्स्‍ट ‘इम्प्रेशन इज द लास्‍ट इम्प्रेशन’.. आपकी पहली छवि ताउम्र आपके साथ चलती है. ऐसे में जब भी साथी के पैरेंट्स के साथ मिलें, अपना इम्प्रेशन अच्‍छा बनाएं. अच्‍छे से ड्रेसअप हों, अपनी बॉडी लैंग्‍वेज सही रखें साथ ही एक बेहद मार्मिक मुस्‍कुराहट के साथ उन्हे ग्रीट करें. लेकिन ये भी ध्‍यान रखें कि इस दौरान आपको बनावटी नहीं बनना है.

अगर आप विनम्र स्‍वभाव के हैं, तो आपके लिए साथी के पैरेंट्स को इम्‍प्रेस करना मुश्किल काम नहीं होगा. ध्‍यान रहे आपको किसी भी प्‍वाइंट पर अभिमानी नही दिखना चाहिए.

साथी के पैरेंट्स से पहली बार मिलने जाते वक्‍त उनके लिए गिफ्ट लेकर जाना भी सोने पर सुहागे जैसा काम साबित हो सकता है. इसके लिए अपनी रिसर्च अच्‍छे से करें और उनके लिए एक गिफ्ट लेकर जाएं.

साथी के पैरेंट्स से मिलते वक्‍त केवल अपनी ही न कहते रहें, कुछ उनकी भी सुनें. अगर किसी बात पर आप उनसे सहमत नहीं हैं तो सख्‍ती से उसका विरोध करने की बजाए विनम्र होकर जवाब दें.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement