NDTV Khabar

क्‍या कहा आप भी छोड़ना चाहते हैं स्‍मोकिंग, तो जरूर पढ़ें

निकोटीन धूम्रपान करने वाले का बल्ड प्रेशर बढ़ा देता है, जिससे धमनियों में रक्त के धक्के बनते हैं और शरीर में कार्बन मोनोऑक्साइड जमा हो जाते हैं, जिससे लहू धमनियों की दीवारों पर कॉलेस्ट्रॉल जमा होने लगता है. इससे रक्त का प्रवाह रुक जाता है.

7 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
क्‍या कहा आप भी छोड़ना चाहते हैं स्‍मोकिंग, तो जरूर पढ़ें
तंबाकू का सेवन आपकी सेहत के लिए बेहद खतरनाक है, क्योंकि इसका निकोटीन धूम्रपान करने वाले का बल्ड प्रेशर बढ़ा देता है, जिससे धमनियों में रक्त के धक्के बनते हैं और शरीर में कार्बन मोनोऑक्साइड जमा हो जाते हैं, जिससे लहू धमनियों की दीवारों पर कॉलेस्ट्रॉल जमा होने लगता है. इससे रक्त का प्रवाह रुक जाता है.

अगर आप इस बुरी आदत को छोड़ना चाहते हैं, तो अपनाएं कुछ ऐसे तरीके-

- निकोटीन रिप्लेसमेंट थेरेपी तंबाकू की इच्छा से लड़ने का बेहतर रास्ता है. अपने फिजीशियन से जानें कि आपके लिए कौन सी थैरेपी सबसे बेहतर रहेगी.

- निकोटीन नोजल स्प्रे, निकोटीन इन्‍हेलर्स, और कुछ अन्य दवाइयां भी मदद कर सकती हैं.

- नियमित तौर पर 30 मिनट तक हल्का व्यायाम करने से निकोटीन की इच्छा कम की जा सकती है.

टिप्पणियां
- आम तौर पर देखा गया है कि तनाव की वजह से धूम्रपान करने का मन होता है, इसलिए तनाव मुक्त रहने की गतिविधियां जैसे कि योग, मेडिटेशन, मसल

-रिलैक्सेशन और ब्रीदिंग टेक्निक्स काफी मददगार साबित हो सकती हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement