International Midwives Day 2020: 5 मई को मनाया जाता है अंतरराष्ट्रीय मिडवाइव्स डे, जानें इसके बारे में ये बातें

International Midwives Day 2020: ये लोगों को स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण जानकारियां देती हैं और बुजुर्ग लोगों की भी देखभाल करती हैं और उनकी जरूरतों का भी ध्यान रखती हैं.

International Midwives Day 2020: 5 मई को मनाया जाता है अंतरराष्ट्रीय मिडवाइव्स डे, जानें इसके बारे में ये बातें

International Midwives Day 2020: हर साल 5 मई को मनाया जाता है यह दिन.

नई दिल्ली:

International Midwives Day 2020: नर्स और दाइयां स्‍वास्‍थ्‍य सेवा मुहैया करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं. ये वो लोग हैं जो अपनी जिंदगी एक मां और बच्चे की देखभाल करने में बिता देते हैं. ये लोगों को स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण जानकारियां देती हैं और बुजुर्ग लोगों की भी देखभाल करती हैं और उनकी जरूरतों का भी ध्यान रखती हैं. दाइयां अक्सर, अपने समुदायों में देखभाल का पहला और एकमात्र जरिया होती हैं. डब्ल्यूएचओ के मुताबिक 2030 तक यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज के लिए 90 लाख नर्स और दाइयों की आवश्यकता है. 

घर पर शिशु को जन्म देना भले ही ज्यादा कॉमन नहीं है लेकिन फिर भी बहुत सी जगहों पर ऐसा होता है और इसमें दाई एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं. वह इस बात का ध्यान रखती हैं शिशु का जन्म सही तरह से हो जाए. इन महिलाओं और उनके काम के सम्मान में यह अंरतराष्ट्रीय मिडवाइव्स दिवस मनाया जाता है. 

हर साल ICM (मिडवाइव्स का अंतर्राष्ट्रीय परिसंघ) एक थीम और कैंपेन के साथ लोगों को जागरूक करता है. इस साल आईसीएम की थीम- जश्न मनाएं, प्रदर्शन करें, जुटें, एकजुट हों - हमारा समय है!

अंरतराष्ट्रीय मिडवाइव्स दिवस का मुख्य उद्देश्य
- न्याय और स्वास्थ्य दोनों में रुचि के साथ सभी को नवजात शिशु और मातृत्व मृत्यु दर को लेकर जागरूक करने और इसे कम करने में दाइयों की भूमिका महत्वपूर्ण है.
- दाइयों की उपलब्धियों का जश्न मनाने के साथ-साथ नवजात, माता, प्रजनन और यौन स्वास्थ्य परिणामों में सुधार के लिए उनके योगदान का जश्न मनाना.
- एक दाई की भूमिका को पहचानने के साथ-साथ पर्याप्त दाई के संसाधनों की पैरवी करके परिवर्तन को लागू करने के लिए नीति निर्माताओं को प्रेरित करना.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com