करवा चौथ 2017: जानिए क्‍या है पूजा का मुहूर्त, कब दिखेगा आपके शहर में चांद, अभी जानें

करवा चौथ के मौके पर महिलाएं पूरे दिन निर्जला व्रत रखने के बाद शाम को चांद और पति को छलनी में से देखकर व्रत समाप्त करेंगी.

करवा चौथ 2017: जानिए क्‍या है पूजा का मुहूर्त, कब दिखेगा आपके शहर में चांद, अभी जानें

करवा चौथ: महिलाएं पूरे दिन निर्जला व्रत रखती हैं.

खास बातें

  • उत्तर भारत में विशेष रूप से मनाया जाता है करवा चौथ
  • महिलाएं दिन भर व्रत रखकर करती हैं पति के लंबे जीवन की कामना
  • देश के अलग-अलग हिस्सों में आठ बजे के बाद दिखाई देगा चंद्रमा
नई दिल्ली:

उत्तर भारत का विशेष पारंपरिक व्रत पर्व करवा चौथ मनाया जा रहा है. यह त्योहार कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी को मनाया जाता है जो कि इस बार 8 अक्टूबर को है. इस दिन महिलाएं पूरे दिन उपवास रखती हैं और शाम को पूजन करने के बाद चांद और फिर पति को छलनी में से देखने के बाद जल ग्रहण करती हैं. यह पर्व चांद के दर्शन से जुड़ा है और चंद्रमा का उदय रात आठ बजे के बाद होगा. करवा चौथ के मौके पर आपके शहर में चांद कब दिखाई देगा यह आप यहां जान सकते हैं.

उत्तर भारत में गाजियाबाद में चंद्रमा के दर्शन रात 8.30 बजे किए जा सकेंगे. लखनऊ में 8.35 बजे, देहरादून में 8.32 बजे, आगरा में 8.35 बजे और चंडीगढ़ में 8.42 बजे चांद देखा जा सकेगा.

यह भी पढ़ें : Karwa Chauth 2017: हाथों की बढ़ानी है शोभा तो इन टिप्स से रचाएं मेहंदी

भोपाल में रात 8 बजकर 34 मिनट पर चांद दिखाई देगा. अहमदाबाद में 8.45 बजे, मुंबई में 8.35 बजे और पुणे में 8.30 बजे चांद के दर्शन करके महिलाएं व्रत समाप्त कर सकेंगी.

यह भी पढ़ें : Karwa Chauth 2017: व्रत में सेहत का रखें ख्याल, जानिए व्रत के पहले और बाद में क्या खाएं-क्या नहीं

उधर पूर्वोत्तर में गुवाहाटी के आसमान में रात 8.40 बजे चांद आएगा. कोलकाता में 8.35 बजे और पटना में 8 बजकर 30 मिनट पर चंद्रमा के दीदर किए जा सकेंगे. दक्षिण भारत में चेन्नई में रात 8.30 बजे और बेंगलुरु में भी 8.30 बजे चंद्रमा के दर्शन हो सकेंगे.     

Newsbeep

यह भी पढ़ें : करवा चौथ 2017: पुरुष बनाएं महिलाओं के करवाचौथ को स्पेशल

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


करवा चौथ पर पूजन के लिए शाम 5.55 बजे से 7 बजकर 9 मिनट तक पूजन करने का मुहूर्त है. इस पूजन के बाद चंद्रमा के उदित होने पर व्रत समाप्त होगा.