इस वजह से मोबाइल फोन की लग जाती है लत, हमेशा Online मिलते हैं लोग

स्मार्टफोन की लत उन लोगों को पड़ती है जो भावानात्मक रूप से कमजोर, चिंता और अवसाद से पीड़ित होते हैं.

इस वजह से मोबाइल फोन की लग जाती है लत, हमेशा Online मिलते हैं लोग

चिंता, अवसाद से पड़ सकती है स्मार्टफोन की लत

खास बातें

  • इस परेशानी के चलते लगती है स्मार्टफोन की लत
  • जितनी ये परेशानी बढ़ती है उतना ही स्मार्टफोन का इस्तेमाल भी
  • पीड़ित इसे चिकित्सा पद्धति की तरह यूज करते हैं
नई दिल्ली:

भावानात्मक रूप से कमजोर, चिंता और अवसाद से पीड़ित लोगों में स्मार्टफोन की लत पड़ने की संभावना ज्यादा होती है. शोध में पाया गया है कि भावनात्मक रूप से कम स्थिर होना स्मार्टफोन व्यवहार से जुड़ा हुआ है.

बच्चों को देना चाहते हैं मोबाइल फोन? तो ये है सही उम्र और तरीका​

ऐसे लोग जो अपने मानसिक स्वास्थ्य से संघर्ष करते हैं, उनमें अपने स्मार्टफोन के इस्तेमाल की संभावना ज्यादा होती है. वह फोन का इस्तेमाल चिकित्सा पद्धति के रूप में करते हैं. इसी तरह कम ईमानदार व्यक्ति के फोन के इस्तेमाल करने की लत ज्यादा होने की संभावना होती है.

अब बच्चों की आंखें नही होंगी कमज़ोर, अगर करेंगे ये आसान उपाय

निष्कर्षों से पता चलता है कि चिंता का स्तर बढ़ने से स्मार्टफोन का इस्तेमाल भी बढ़ता है.

क्या आपका बच्चा भी बहुत रोता है? तो इन 6 तरीकों से करें उसे शांत

ब्रिटेन के डर्बी विश्वविद्यालय में मनोविज्ञान के प्रवक्ता जहीर हुसैन ने एक बयान में कहा, "समस्या से जूझ रहे लोगों में स्मार्टफोन का इस्तेमाल पहले के विचार की तुलना में ज्यादा जटिल है और हमारे शोध में स्मार्टफोन के इस्तेमाल पर विभिन्न प्रकार के मनोवैज्ञानिक कारकों के परस्पर प्रभाव को उजागर किया गया है." (इनपुट - आईएएनएस)

देखें वीडियो - क्या मोबाइल फोन से बढ़ता है अपराध?​

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com