NDTV Khabar

Mother's Day 2017: जानिए इंग्‍लैंड, यूरोप और ब्रिटेन में कैसे मनाया जाता है मदर्स डे

हर बार की तरह इस बार भी मदर्स डे पूरे देश में धूमधाम से मनाया जाएगा. लोग अपनी मां को आज के लिए एक बार तो अपने प्‍यार का अहसास जरूर दिलाएंगे. कोई गिफ्ट के जरिए तो कोई मूवी टिकट के जरिए, कोई डिनर तो कोई लंच के माध्‍यम से आज अपनी मां को उनके खास होने का अहसास जरूर दिलाएगा. पर क्‍या आपको पता है मदर्स डे किस देश में कब और कैसे मनाया जाता है, नहीं तो आइए आपको बताते हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Mother's Day 2017: जानिए इंग्‍लैंड, यूरोप और ब्रिटेन में कैसे मनाया जाता है मदर्स डे

यह दिन विश्‍व के हर कोने में अलग-अलग तरीके से मनाया जाता हैं.

नई दिल्‍ली:

हर कोई जानता है कि भारत में मदर्स डे बेहद धूमधाम से मनाया जाता है. मदर्स डे पर गिफ्ट्स, ग्रिटिंग कार्डस, डिनर टेबल बुकिंग, फ्लावर्स से बाजार पटे पड़े रहते हैं. पर क्‍या आपको पता है मदर्स डे किस देश में कब और कैसे मनाया जाता है. किस देश में किस तरह मदर्स डे की शुरूआत हुई थी, किस देश में इस खुशियों के त्‍यौहार को मनाने का क्‍या तरीका है और इसके पीछे क्‍या कहानी है, नहीं तो आइए आपको बताते हैं.

मदर्स डे ग्राफटन वेस्ट वर्ज़िनिया में एना जॉर्विस द्वारा माताओं और उनके मातृत्व के लिए आरंभ किया गया था. इसका उद्देश्‍य मां को उसके प्रेम और समर्पण के प्रति सम्‍मान देना था. यह दिन विश्‍व के हर कोने में अलग-अलग तरीके से मनाया जाता हैं.
कहते हैं कि इस दिन की शुरूआत पुराने ग्रीस से हुई थी. स्य्बेले ग्रीक देवताओं की मां थीं, उनके सम्मान में ही यह दिन मनाया जाता था.

इंग्लैंड में 17वीं शताब्दी में लेंट यानि 40 दिनों के उपवास के दौरान चौथे रविवार को मदर्स डे मनाया जाता था. इस दिन चर्च में प्रार्थना के बाद बच्चे अपने अपने घर फूल या उपहार लेकर जाते हैं.
 

mothers 625 300

यूरोप और ब्रिटेन में मां के प्रति सम्मान दर्शाने की कई परंपराएं प्रचलित हैं. उसी के अंतर्गत एक खास रविवार को मातृत्व और माताओं को सम्मानित किया जाता था. जिसे मदरिंग संडे कहा जाता था.

अमेरिका में सबसे पहले मदर डे प्रोक्लॉमेशन जुलिया वॉर्ड होवे ने मनाया था. होवे नारीवादी थीं. उनके अनुसार महिलाओं या माताओं को राजनीतिक स्तर पर अपने समाज को आकार देने का संपूर्ण दायित्व मिलना चाहिए.

चीन में मातृ दिवस बेहद लोकप्रिय है और इस दिन उपहार के रूप में गुलनार के फूल सबसे अधिक बिकते हैं. 1997 में चीन में यह दिन गरीब माताओं की मदद के लिए निश्चित किया गया था. खासतौर पर उन गरीब माताओं के लिए जो ग्रामीण क्षेत्रों, जैसे पश्चिम चीन में रहती हैं.
 



NDTV.in पर विधानसभा चुनाव 2019 (Assembly Elections 2019) के तहत हरियाणा (Haryana) एवं महाराष्ट्र (Maharashtra) में होने जा रहे चुनाव से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरें (Election News in Hindi), LIVE TV कवरेज, वीडियो, फोटो गैलरी तथा अन्य हिन्दी अपडेट (Hindi News) हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement