NDTV Khabar

Happy New Year: खुद से किए ये 7 वादे हमेशा तोड़ देते हैं हम

न्यू ईयर 2018: अगर आप सिगरेट पीते हैं या पीती हैं तो न जाने कितनी ही बार आपने सिगरेट छोड़ने का नए साल में ज़रूर किया होगा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Happy New Year: खुद से किए ये 7 वादे हमेशा तोड़ देते हैं हम

न्यू ईयर पर किए कुछ वादे हमेशा तोड़ देते हैं हम

घड़ी की सुई टिक-टिक कर रही है और साल 2017 धीरे-धीरे खत्म हो रहा है. ये वो वक्त है जब हम अपने बीतने वाले साल का आंकलन कर रहे होते हैं. ये वक़्त खुद की गलतियों को न दोहराने और अपनी आदतों को सुधारने का होता है. ऐसे में हम चाहते हैं कि नए साल से हम अपनी दिनचर्या में उन सभी चीज़ों को शामिल कर लें जो इस साल हम नहीं कर पाए. या फिर ऐसी कोई आदत जिसे हम नए साल में दोहराना ही नहीं चाहते. इन सारी अपने दिल में दबी इच्छाओं को हम नाम देते हैं खुद से किए गए वादों का जो हम नए साल में ख़ुद से करने वाले हैं. लेकिन यक़ीन मानिए कुछ ऐसे वादे हम इस नए वक़्त में कर जाते हैं जो सिर्फ और सिर्फ टूटने के लिए ही बने होते हैं.
 
इस लिस्ट में पहला वादा- स्मोकिंग कल से बंद
अगर आप सिगरेट पीते हैं या पीती हैं तो न जाने कितनी ही बार आपने सिगरेट छोड़ने का वादा नए साल में ख़ुद से ज़रूर किया होगा. हम यकीन से कह सकते हैं कि जनाब आप अपने खुद के वाद पर 15 दिन से ज्यादा नहीं टिक पाए होंगे और अगर टिक भी गए तो आने वाले कुछ दिनों में आपने ख़ुद से किया ये वादा ज़रूर तोड़ दिया होगा.  दूसरा वादा- बाहर का खाना बंद
घर से दूर रहते हैं और ऑफिस की जल्दी होती है तो खाने का ख़याल आपको बिल्कुन नहीं रहता होगा. हालांकि आप चाहते हैं कि आप बाहर के खाने से मुंह मोड़ लें. लेकिन मोह है कि छूटता ही नहीं, सिर्फ खाने से ही नहीं हमारे आलस से भी. नए साल पर हम ये रिजोल्यूशन लेते ज़रूर हैं कि अब से बाहर का खाना बिल्कुल बंद, क्योंकि इस साल इसी ख़राब आदत की वजह से आप कितनी बार बीमार हुए हैं और आपको ऑफिस से छुट्टी लेनी पड़ी है. हम चाहते हैं कि आप ख़ुद से किया ये वादा ज़रूर पूरा करें, लेकिन हमें लगता है कि ये वादा भी आप ज़्यादा दिन निभा नहीं पाएंगे. 
 
तीसरा वादा- खुद को फिट रखने का
ऑफिस हो या कॉलेज हर जगह आप ख़ुद से अलग दिखाना चाहते हैं. इसी ख्वाहिश के चलने न्यू ईयर से पहले आप खुद से एक वादा करते हैं. कल से योगा क्लास, जिम या फिर घर पर ही रोज़ाना एक्सरसाइज़ करेंगे. अरे जनाब पसीना बहाने के लिए जिगर चाहिए. उसके लिए टाइम चाहिए जो कि आपके पास बिल्कुल नहीं है. ऐसे में ये वादा भी आप पूरा नहीं कर पाते हैं.
 
चौथा वादा- पैसे बचाओ
हम सभी लोग चाहते हैं कि ख़ुद की गाढ़ी कमाई की रक़म का कुछ हिस्सा उस वक़्त के लिए बचा के रखें जब उसकी हमें सबसे ज़्यादा ज़रूरत हो. ऐसे में नए साल पर हम सब खुद से ये वादा ज़रूर करते हैं कि नए साल में बहुत न सही लेकिन, अपने सेलरी का कुछ हिस्सा अपनी बचत में शामिल करें. एक बार फिर आपका दिल टूट जाता है क्योंकि आप ख़ुद से किया ये वादा भी पूरा नहीं कर पाते. आपका बचाया हुआ पैसा पता ही नहीं कैसे खर्च हो जाता है.
 
पांचवां वादा- फैमिली टाइम
आप खुद से कितना झूठ बोलते हो इसकी गवाही दे रहा है आपका ख़ुद से किया गया ये पांचवां वादा. इस साल आपके अपने परिवार को वक़्त न दे पाने की वजह से कितने झगड़े हुए होंगे. ऐसे में आप सबक लेते हुए चाहते हो कि ज़रूरी है कि फैमिली को टाइम दिया जाए. लेकिन क्या आप खुद से किया वादा आज तक पूरा कर पाए हो. सच कहें तो नहीं, काम में उलझे-उलझे परिवार को वक़्त देने का वादा कब गायब हो जाता है पता ही नहीं चलता. 
   
छठा वादा- सुबह जल्दी उठेंगे
बचपन से आप सभी के फेवरेट वादों में ये ज़रूर शामिल होगा. हर नए साल पर हम इस साल की सबसे बड़ी बुराई सुबह जल्दी न उठ पाने की आदत से निजात पाना चाहते हैं, लेकिन कैसे सिर्फ वादा करके. आप चाहते हैं कि नए साल में आप हर काम वक़्त पर करेंगे, जिसके लिए ज़रूरी है आपका सुबह जल्दी उठना, लेकिन जब आप रात को जल्दी सोएंगे ही नहीं तो सुबह उठेंगे कैसे. ख़ैर आपसे ये वादा भी नए साल में पूरा होने से रहा.
 
सातवां वादा- सोशल मीडिया पर टाइम की बर्बादी नहीं
इन दिनों आपके पसंदीदा रिजोल्यूशन में शुमार है ये वादा. आपको लगता है कि आप बेवजह ही सोशल मीडिया पर बहुत वक़्त बर्बाद कर रहे हो. आप हर रोज़ चाहते हो कि इस बुरी आदत से मुक़्त हो जाएं, लेकिन मुक्ति है कि मिलती ही नहीं. ऐसे में आप वक़्त चुनते हैं नए साल का. पक्का इस साल से सोशल मीडिया पर वक़्त बर्बाद नहीं करेंगे. लेकिन हमें पता है साल शुरू होते होते आपका ये वादा और हसरत अधूरी ही रह जाती है.
लाइफस्टाइल की ख़बरों के लिए क्लिक करें.
 


टिप्पणियां

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement