NDTV Khabar

अनियमित पीरियड्स और दर्द की हैरान करने वाली वजह, 13 से 19 साल की लड़कियों को ज़्यादा खतरा

मासिक धर्म हार्मोन के नियमन से जुड़े हैं. वायु प्रदूषण के पर्टिकुलेट मैटर से हार्मोन की क्रिया पर असर पड़ता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अनियमित पीरियड्स और दर्द की हैरान करने वाली वजह, 13 से 19 साल की लड़कियों को ज़्यादा खतरा

वायु प्रदूषण से मासिक धर्म के अनियमित होने का खतरा (प्रतिकात्मक तस्वीर)

खास बातें

  1. किशोरियों में अनियमित मासिक धर्म का खतरा बढ़ा
  2. मासिक धर्म ही नहीं बांझपन का खतरा भी
  3. मेटाबॉलिक और पॉलीस्टिक ओवरी सिंड्रोम भी हो सकता है
नई दिल्ली:

प्रदूषित हवा से आपने सर्दी-खांसी, वायरल या फिर किडनी से जुड़ी बीमारियों के बारे में सुना होगा. लेकिन क्या आप जानते हैं कि इससे मासिक धर्म में भी परेशानी आ सकती है? जी हां, हाल ही में हुए एक रिसर्च से पता चला है कि हवा में बढ़ते प्रदूषण से मासिक धर्म के अनियमित होने का खतरा बना रहता है. यह रिसर्च भारतीय मूल के एक शोधकर्ता नेतृत्व में की गई. 

पीरियड्स के दर्द को और बढ़ा देती हैं ये 5 चीज़ें, रोज़ाना कर रही हैं आप इन्हें

शोधकर्ताओं के अनुसार, हवा में बढ़ते प्रदूषण स्तर की वजह से किशोरियों में अनियमित मासिक धर्म का खतरा बढ़ जाता है और इसे नियमित होने में लंबा समय लगता है.

पीरियड्स टालने हैं तो अपनाएं ये 5 घरेलू नुस्‍खे


शोधकर्ताओं ने यह भी चेताया है कि वायु प्रदूषण के संपर्क में आने से बांझपन, मेटाबॉलिक सिंड्रोम व पॉलीस्टिक ओवरी सिंड्रोम हो सकता है.
 

periods

बोस्टन विश्वविद्यालय की सहायक प्रोफेसर श्रुति महालिंग्या ने कहा, "वायु प्रदूषण के संपर्क में रहने से दिल संबंधी, पल्मोनरी रोग होने की संभावना होती है. लेकिन यह शोध अलग तंत्रों के प्रभावित होने के बारे में भी सुझाव देता है, जिसमें प्रजनन अंतस्रावी तंत्र शामिल हैं."

पीरियड्स के दौरान भी सेक्स करने से हो सकते हैं प्रेग्नेंट, जानिए कैसे बचें

मासिक धर्म हार्मोन के नियमन से जुड़े हैं. वायु प्रदूषण के पर्टिकुलेट मैटर से हार्मोन की क्रिया पर असर पड़ता है. हालांकि, शोधकर्ताओं के अनुसार यह पता नहीं चल सका है कि क्या वायु प्रदूषण का मासिक धर्म की अनियमितता से जुड़ाव है या नहीं.

INPUT - IANS

टिप्पणियां

देखे वीडियो - इररेगुलर पीरियड्स को न करें नजरअंदाज​



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement