NDTV Khabar

पीएम मोदी ने जिस 'सोलो' जड़ी-बूटी का किया जिक्र, जानिए क्या है उसमें खास

वैज्ञानिकों का कहना है कि सोलो (Solo) एक चमत्कारी जड़ी-बूटी है, जो इम्युन सिस्टम को ठीक सकता है, और ऊंचाई के बातावरण में शरीर को ढलने में मदद करता है और इसका सबसे फायदेमंद गुण यह है कि रेडियो-एक्टिविटी से बचाव करता है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पीएम मोदी ने जिस 'सोलो' जड़ी-बूटी का किया जिक्र, जानिए क्या है उसमें खास

पीएम मोदी ने लद्दाख की संजीवनी 'सोलो' का किया जिक्र, जानिए क्या है इसका 'रामायण' से नाता

नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आर्टिकल 370 खत्म करने के बाद ( PM Narendra Modi) ने 8 अगस्त  को देश के नागरिकों को टेलीविजन के जरिए संबधित किया. राष्ट्र के नाम संबोधन में पीएम मोदी ने लद्दाख में पाई जाने वाली 'सोलो' (Solo) जड़ी-बूटी का जिक्र किया. आपको बता दें इस जड़ी-बूटी को 'रामायण' में वर्णित संजीवनी माना जाता है. वैज्ञानिकों का मानना है कि मिथकीय महाकाव्य 'रामायण' में राम के भाई लक्ष्मण को जीवनदान देनेवाली जड़ी-बूटी 'संजीवनी' की तलाश पूरी हो गई है. इस जड़ी-बूटी को स्थानीय लोग 'सोलो' कहते हैं. 

यह जड़ी-बूटी हिमालय पर इतनी ऊंचाई पर पाई जाती है, जहां जीवन को बनाए रखना ही अपने आप में एक चुनौती है. वहां पर यह जड़ी-बूटी मिलती है. वैज्ञानिकों का कहना है कि यह एक चमत्कारी जड़ी-बूटी है, जो इम्युन सिस्टम को ठीक सकता है, और ऊंचाई के बातावरण में शरीर को ढलने में मदद करता है और इसका सबसे फायदेमंद गुण यह है कि रेडियो-एक्टिविटी से बचाव करता है. वैज्ञानिकों ने इस जड़ी-बूटी को 'रोडियोला' (Rhodiola) नाम दिया है. 

अब ट्रेन में सफर के दौरान कर सकेंगे शॉपिंग, भारतीय रेलवे ने इन ट्रेनों में शुरू की सेवा


रोडियोला ठंडे और ऊंचाई वाले जगह पर पाया जाता है. स्थानीय लोग रोडियोला को 'सोलो' कहते हैं और इसकी पत्तियों का सब्जियों में प्रयोग करते हैं.

हालांकि लेह स्थित डिफेंस इंस्टीट्यूट ऑफ हाई एलटीट्यूड रिसर्च (डीआईएचएआर) के शोध से पता चलता है कि रोडियोला का इस्तेमाल कई बीमारियों के इलाज में किया जा सकता है. 

डीआईएचएआर के निदेशक आर.बी. श्रीवास्तव ने बताया, "रोडियोला एक आश्चर्यजनक पौधा है, जो रोग प्रतिरोधी क्षमता बढ़ाता है, कठिन जलवायु की स्थितियों में शरीर को अनुकूल बनाता है और रेडियो एक्टिविटी से बचाव करता है. इस पौधे में सीकोंडरी मेटाबोलाइट्स और फायटोएक्टिव तत्व पाएं जाते हैं, जो विशिष्ट तत्व हैं."

सिर्फ क्यूट ही नहीं! कमाऊ भी है ये DOG, हर शूट से कमाता है 12 लाख, हॉलीवुड स्टार्स भी हैं दीवाने

श्रीवास्तव ने कहा कि यह जड़ी बूटी बम या बॉयोकेमिकल लड़ाई से पैदा हुए गामा रेडिएशन के प्रभाव को कम करता है. लेह स्थित डीआरडीओ की प्रयोगशाला दुनिया की सबसे ऊंची जगह पर स्थित कृषि-जानवर शोध प्रयोगशाला है. इस प्रयोगशाला में रोडियोला पर एक दशकों से शोध हो रहा है. 

श्रीवास्तव ने कहा, "इस पौधे की एडेप्टोजेनिक क्षमता सैनिकों और कम दवाब और कम आक्सीजन वाले वातावरण में अनुकूल होने में मदद कर सकती है, साथ ही इस पौधे में अवसाद-रोधी और भूख बढ़ाने वाला गुण भी है."

प्रधानमंत्री ने लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश बनाने की घोषणा करते हुए कहा कि ये फैसला जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के साथ ही पूरे भारत की आर्थिक प्रगति में सहयोग करेगा. जब दुनिया के इस महत्वपूर्ण भूभाग में शांति और खुशहाली आएगी, तो स्वभाविक रूप से विश्व शांति के प्रयासों को मजबूती मिलेगी. 

सैनिटरी नैपकीन को अब दोबारा कर सकेंगी इस्तेमाल, IIT छात्राओं के 'क्लींज राइट' से होगा ये कमाल

प्रधानमंत्री ने कहा कि लेह लद्दाख ऐसी धरती है, जहां संजीवनी पाई जाती है. वे सोलो का ही उल्लेख संजीवनी के रूप में कर रहे थे. 

टिप्पणियां

VIDEO: जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने पर क्या बोले नेशनल कॉन्फ्रेंस के सांसद



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement