NDTV Khabar

रिलेशनशि‍प टिप्स: जानते तो आप भी हैं इन 5 बातों को, लेकिन रिश्ते में लाना भूल जाते हैं...

अगर किसी बात पर आप दोनों की सोच नहीं मिलती है, तो यह सोचकर हैरान न हों कि साथी की सोच कैसी है. हर इंसान ने जीवन के अनुभव लिए हैं और उन्हीं के आधार पर उनकी सोच बनती है. इसलिए उनकी सोच का सम्मान करें और बहस में न पड़ें. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
रिलेशनशि‍प टिप्स: जानते तो आप भी हैं इन 5 बातों को, लेकिन रिश्ते में लाना भूल जाते हैं...

खास बातें

  1. बस उन कुछ छोटी-छोटी बातों को याद रखें, जो हमें पहले से ही पता हैं.
  2. जिसके साथ आपको जीवन बिताना है, क्या आप उसी के साथ समय नहीं बिता पाते.
  3. एक दूसरे को स्पेस देना बहुत जरूरी है.
कोई इंसान पूरी तरह परफेक्ट नहीं होता, यह बात जानते हुए भी हम हमेशा अपने साथी से परफेक्ट होने की उम्मीद लगा लेते हैं. रिलेशनश‍िप में भी इसी तरह बहुत सी छोटी-छोटी बाते हैं, जिन्हें हम समझते तो हैं लेकिन फिर भी समझ नहीं पाते. इसलिए जरूरत है कि एक र‍िश्ते को और भी बेहतर और मजबूत बनाने के लिए हम बस उन कुछ छोटी-छोटी बातों को याद रखें, जो हमें पहले से ही पता हैं... 

साथ समय बिताएं: 
जिसके साथ आपको जीवन बिताना है, क्या आप उसी के साथ समय नहीं बिता पाते... अगर ऐसा है, तो आज ही डिनर डेट पर जाएं और एक दूसरे के साथ अच्छा समय बिताएं. वह बातें शेयर करें या फिर से उन्हीं दिनों को साथ-साथ जिएं, जो कहीं पीछे छूट गए हैं. 

दूरी भी है जरूरी: 
माना कि आप दोनों के बीच बहुत प्यार है और आप एक दूसरे के बिना नहीं रह सकते. लेकिन अगर आप बहुत ज्यादा साथ रहते हैं, तो यह भी आपके र‍िश्ते पर असर ड़ाल सकता है. एक दूसरे को स्पेस देना बहुत जरूरी है. कभी-कभी अपने दोस्तों के साथ समय बिताएं. जरूरी नहीं कि लाइफ में जितनी भी ट्रिप की जाएं वो जीवन साथी के साथ ही हों कुछ ट्रिप अपने दोस्तों के साथ भी किए जा सकते हैं. रिलेशनशि‍प से अलग अपनी लाइफ को इंज्वॉय करना भी न भूलें. 

समझें, बहस न करें: 
अगर किसी बात पर आप दोनों की सोच नहीं मिलती है, तो यह सोचकर हैरान न हों कि साथी की सोच कैसी है. हर इंसान ने जीवन के अनुभव लिए हैं और उन्हीं के आधार पर उनकी सोच बनती है. इसलिए उनकी सोच का सम्मान करें और बहस में न पड़ें. 

टिप्पणियां
कभी तुम - कभी हम
रिलेशनशिप में ऐसा भी समय आता है, जब आप सही होते हैं और सामने वाला गलत. लेकिन वह आपकी बात को समझे बिना अपनी जिदों पर अड़ा रहता है. ऐसे में आप अपनी बात से मुकरें नहीं, लेकिन बहस में भी न पड़ें. हो सकता है कि इस समय वह ज्यादा गुस्से में हो. वह कितना ही चीख लें सही को गलत साबित नहीं कर सकते. इसलिए अपना आपा न खोएं और शांत रहें. जब वह शांत हो जाएं, तब उन्हें प्यार से अपनी बात समझाएं. 

साथ निभाएं
हो सकता है कि कभी आप दोनों का झगड़ा हो, बातचीत बंद हो. लेकिन आपके साथी को आपके सहयोग की जरूरत हो. ऐसे में इस बात का इंतजार न करें कि वह खुद पहल करके आपसे मदद मांगें. झगड़ा अपनी जगह है, लेकिन इससे अच्छा प्यार जताने का मौका आपको नहीं मिलेगा. झगड़े के बावजूद अपने साथी का बिन मांगे ही साथ दें. यकीनन यह आपके रिश्ते को नई मजबूती देगा.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

विधानसभा चुनाव परिणाम (Election Results in Hindi) से जुड़ी ताज़ा ख़बरों (Latest News), लाइव टीवी (LIVE TV) और विस्‍तृत कवरेज के लिए लॉग ऑन करें ndtv.in. आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं.


Advertisement