NDTV Khabar

रूममेट के साथ रहते हैं? तो ये खबर जरूर पढ़ें

कॉलेज छात्र अपने रूममेट के तनाव को लेकर संवेदनशील तो होते हैं, लेकिन उनके तनाव के स्तर को कई बार कम आंक जाते हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
रूममेट के साथ रहते हैं? तो ये खबर जरूर पढ़ें

रूममेट के तनाव के स्तर को कम आंकते हैं छात्र

खास बातें

  1. रूममेट के तनाव को लेकर रिसर्च
  2. रूममेट के तनाव को कम आंकते हैं
  3. तनाव निपटने के बारे में प्रशिक्षण
नई दिल्ली: अगर आप अपने दोस्तों के साथ रहते हैं तो उनके मन में क्या चल रहा है और क्या नहीं, इसका पता आप सबसे पहले लगा सकते हैं. खासकर उनके तनाव के बारे में. 

भारतीय रंग में रंगे जस्टिन ट्रूडो, यूं अपने कपड़ों से की दिल जीतने की कोशिश

एक अध्ययन में सामने आया है कि कॉलेज छात्र अपने रूममेट के तनाव को लेकर संवेदनशील तो होते हैं, लेकिन उनके तनाव के स्तर को कई बार कम आंक जाते हैं.

Holi 2018: इन 10 मैसेजेस से अपनों को दें होली की एडवांस शुभकामनाएं

अमेरिका में न्यूयॉर्क यूनिविर्सिटी के पैट्रिक श्रेट ने बताया कि कॉलेज छात्र अपने रूममेट के तनाव के कुछ स्तरों का पता लगा सकते हैं और एक समेस्टर को लेकर बदलाव का पता लगा सकते हैं, लेकिन फिर भी वे तनाव के सटीक स्तर को कम आंक जाते हैं.

तैमूर और इनाया की क्यूट कैमिस्ट्री, ये फोटो नहीं देखी तो क्या देखा!

टिप्पणियां
अध्ययनकर्ताओं ने बताया कि तनाव की पहचान करने और निपटने के बारे में प्रशिक्षण देने से रूममेट के साथ बातचीत को प्रोत्साहन मिल सकता है. खासकर यह पता लगाने में कि अति तनाव की स्थिति का अनुभव करने पर क्या किया जा सकता है.

देखें फोटोज़ - क्या बदल रही है छात्र राजनीति
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement