मकर संक्रांति पर नहीं होगा पतंगबाजी का मजा किरकिरा, अगर अपनाएंगे ये टिप्‍स

मकर संक्रांति पर नहीं होगा पतंगबाजी का मजा किरकिरा, अगर अपनाएंगे ये टिप्‍स

बच्‍चे तो बच्‍चे इस दिन बड़े भी पतंगबाजी का आनंद उठाते हैं.

नयी दिल्‍ली:

वो दिन आने वाला है जब आपको आसमान रंग-बिरंगी पतंगों से पटा हुआ नजर आएगा, बच्‍चों में पतंगें उड़ाने की होड़ नजर आने लगेगी. हम बात कर रहे हैं मकर संक्रांति की. बच्‍चे तो बच्‍चे इस दिन बड़े भी पतंगबाजी का आनंद उठाते हैं. लेकिन जहां एक और यह खुशी का त्‍योहार हैं वहीं दूसरी ओर कुछ लोगों के लिए यह गम में भी बदल सकता है.

अबकी बार थाली में परोसें देशभर का प्यार, नए अंदाज़ में इन पकवानों के साथ मनाएं मकर संक्रांति का त्योहार

दरअसल पतंगों का मांझा जहां ने केवल आपके हाथों को नुकसान पहुंचा देता है वहीं इससे गला कटने, वाहन में फंसकर दुर्घटना होने जैसी समस्‍याएं भी इन दिनों सुनने को मिल ही जाती हैं. ऐसे में आइए आपको बताते हैं कुछ टिप्‍स जो आपके इस त्‍योहार के मजे को किरकिरा नहीं होने देंगे.

लोहड़ी 2017 : जानिए क्यों मनाया जाता है यह त्यौहार और क्या है इससे जुड़ी अनूठी मान्यताएं

मकर संक्रांति के दौरान मांझे के कारण गला कटने की कई घटनाओं के बारे में आपने सुना होगा. ऐसे में यूं तो हेलमेट पहनना हर टू-व्‍हीलर चालक के लिए अनिवार्य है लेकिन इस त्‍योहार के आसपास इसे पहनना बिल्‍कुल न भूलें. हेलमेट के शीशे को भी पूरा बंद करके रखें.
 

kite string generic,kite flying in lohri, kite tips in hindi, lohri 2017
पतंग उड़ाते वक्त बच्चों पर रखें नज़र.

बच्चों में पतंग उड़ाने के मुकाबले इसे लूटने की काफी होड़ लगी रहती है. जिसके चलते कई हादसे हो जाते हैं. ऐसे में इस दौरान अपने बच्‍चों पर खास नजर रखें. उन्‍हें अकेले बाहर न जाने दें. पतंग गिरते देख अगर बच्‍चा उत्‍साहित हो जाए तो गलती से भी उसका हाथ न छोड़ें. बच्‍चों को समझाएं कि यह जानलेवा साबित हो सकता है.

पतंगबाजी के बाद बचे हुए मांझे को इधर-उधर न फेंके. यह अन्‍य लोगों के हाथ-पैरों या वाहन में उलझकर मुसीबत को निमंत्रण दे  सकता है.

सूर्य उपासना का विशेष पर्व है मकर संक्रांति, जानिए कहां-कहां कैसे मनाया जाता है यह त्यौहार

पतंग उड़ाने के लिए आप जिस छत का प्रयोग कर रहे हैं उसके सेलेक्‍शन में सावधानी बरतें. वहां पतंग न उड़ाएं जहां बाउंड्री वॉल न हो या वॉल की ऊंचाई कम हो.

ज्‍यादातर लोग ग्‍लॉस कोटेड मांझे का प्रयोग करते हैं. यह बेहद शार्प मांझा होता है. बच्‍चों को ग्‍लॉस कोटेड की बजाए साधारण मांझे के इस्‍तेमाल के लिए प्रो‍त्‍साहित करें.

Newsbeep


लोहड़ी पर इस ‘पंजाबी लुक’ से छा जाएंगे आप...नहीं हटेगी किसी की निगाहें

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


लाइफस्‍टाइल से जुड़ी अन्‍य खबरों के लिए क्लिक करें http://bit.ly/2jtb7zK