NDTV Khabar

खुद को न लगने दें एसी की लत, एयर कंडीशनर से हो सकते हैं ये नुकसान...

क्या आप जानते हैं कि जिस एसी की हमें और आने वाली जनरेशन को आदत सी होती जा रही है वह जहां गर्मी से राहत देता है, वहीं आपकी सेहत को नुकसान भी पहुंचाता है. जी हां, एसी आपकी सेहत को काफी नुकसान पहुंचा सकता है. एक नजर एसी से होने वाले नुकसानों पर... 

7 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
खुद को न लगने दें एसी की लत, एयर कंडीशनर से हो सकते हैं ये नुकसान...
एसी यानी एयर कंडीशनर आज हमारी सबसे बड़ी जरूरतों में से एक बन गया है. हम दफ्तर में हों या घर पर बिना एसी के बैठ पाना मुश्किल सा लगता है. गर्मियों में तो ऐसा लगता है जैसे एसी का अविष्कार ही मानव की सबसे बड़ी कामया‍बी हो. लेकिन क्या आप जानते हैं कि जिस एसी की हमें और आने वाली जनरेशन को आदत सी होती जा रही है वह जहां गर्मी से राहत देता है, वहीं आपकी सेहत को नुकसान भी पहुंचाता है. जी हां, एसी आपकी सेहत को काफी नुकसान पहुंचा सकता है. एक नजर एसी से होने वाले नुकसानों पर... 

एक चीज जो किसी को पसंद नहीं, मोटापा, वह एसी से बढ़ सकता है. जी हां, एसी के ज्यादा इस्तेमाल से मोटापा बढ़ता है. इसकी वजह यह है कि जब हम लगातार ठंडी जगह में रहते हैं, तो शरीर की ऊर्जा की खपत नहीं होती, जो शरीर की चर्बी बढ़ने का काम करता है. 
 
air conditioner ac 625 300

दिमाग पर भी एसी का असर पड़ता है. अगर आप सोच रहे हैं कि एसी में बैठने से दिमाग ठंडा रहता है, तो हम इस बारे में बात नहीं कर रहे. दरअसल एसी तापमान को कम कर देता है, जिससे दिमाग की कोशिकाएं भी संकूचित होती हैं. यह दिमाग की क्षमता और क्रियाशीलता प्रभावित करता है. 

ठीक सर्दियों की तरह एसी में ज्यादा देर रहना भी आपकी त्वचा को नुकसान पहुंचा सकता है. अध‍िक नमी वाले वातावरण में त्वचा शुष्क हो सकती है. ज्यादा नमी में रहने से त्वचा की प्राकृतिक नमी खत्म हो सकती है इससे त्वचा में रूखापन महसूस होता है.
 
 
skin discoloration

Photo Credit: instagram/aestheticsbyyolandaf


ज्यादा देर तक एसी में बैठने से जोड़ों के दर्द की समस्या जन्म ले सकती है. लगातार एसी में बैठने से सिर्फ घुटनों की समस्या ही पैदा करता इसके अलावा शरीर में जकड़न भी पैदा कर सकता है.

ज्यादा देर तक एसी में बैठने से रक्तचाप की समस्याएं हो सकती हैं. ज्यादा देर तक एसी में रहने से लो ब्लडप्रेशर की समस्या हो सकती है. दमा के मरीजों को एसी की आदत नहीं ड़ालनी चाहिए.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement