NDTV Khabar

तकिए के साथ सोने वाले हो जाएं सावधान, बच्चों से बड़ों तक सबको हो रही हैं ये 7 परेशानियां

तकिया लगाकर सोने के फायदों से ज़्यादा उसके नुकसान हैं. जो आपको डेली लाइफ में कई दिक्कतों में डाल सकते हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
तकिए के साथ सोने वाले हो जाएं सावधान, बच्चों से बड़ों तक सबको हो रही हैं ये 7 परेशानियां

क्यों तकिया लगाकर नहीं सोना चाहिए, जानें इसकी 7 वजहें

खास बातें

  1. एक्ने और रिंकल्स करे दूर
  2. बच्चे को फ्लैट हेड सिंड्रोम से बचाए
  3. बच्चों को गर्दन की मोच से बचाएं
नई दिल्ली: कई लोगों को अपने मुलामय और गद्देदार तकिए के बिना नींद नहीं आती. किसी-किसी को तो एक नहीं बल्कि दो तकिए लगाकर सोने की आदत होती है. ऐसे में उन्हें उस वक्त तो अच्छी नींद का अहसास हो, लेकिन बाद में ये कई परेशानियों की वजह बन सकता है. जी हां, तकिया लगाकर सोने के फायदों से ज़्यादा उसके नुकसान हैं. जो आपको डेली लाइफ में कई दिक्कतों में डाल सकते हैं. नीचे जानें तकिए के बिना सोने से आप अपनी लाइफ से किन परेशानियों को दूर कर सकते हैं.    
अच्छी नींद के लिए सबसे असरदार 6 तरीके, नहीं जागना पड़ेगा रातभर​

1. एक्ने और रिंकल्स करे दूर
जी हां, बिना तकिए के सोने से आपके चेहरे से एक्ने और रिंकल्स दूर रहते हैं. इसकी वजह है आपके तकिए के कवर पर मौजूद धूल, बैक्टिरिया और गंदगी. ये सब आपके चेहरे पर बार-बार लगते हैं, जिससे एक्ने की समस्या होती है. सिर्फ एक्ने ही नहीं बल्कि तकिए पर आप चेहरे को कैसे भी करके सोते हैं जिससे उसकी इलास्टिसिटी कम होकर रिंकल्स बढ़ते हैं. 
 
acne

2. पीठ का दर्द
अगर आपको पीठ में दर्द रहता है या फिर आपका काम सिर्फ कुर्सी पर पूरे दिन बैठे रहना है तो तकिए का इस्तेमाल भूलकर भी ना करें. क्योंकि इससे पीठ का दर्द और भी बढ़ सकता है. बिना तकिए के सोने से रीढ़ की हड्डी को आराम मिलता है, इसी वजह से धीरे-धीरे पीठ का दर्द का कम हो जाता है. 
 
back pain

3. अच्छी नींद  
अगर आपको लगता है कि तकिया लगाकर ही अच्छी नींद आती है तो आप गलत हैं. रिसर्च से पता चला है कि बिना तकिए के सोने से नींद बेहतर आती है और इससे नींद ना आने की परेशानी भी दूर हो जाती है. क्योंकि ऐसे सोने से रीढ़ से लेकर पैरों की हड्डियों तक सभी कुछ अपने सही पॉश्चर में होता है.  
सुबह-सवेरे जीरे का पानी पीने से मिलेंगे ये फायदे​
 
good sleep

4. स्ट्रेस करे दूर
गलत पॉश्चर या पोज़िशन में सोने पर नींद पूरी नहीं होती. इससे आप पूरे दिन काम पर ठीक तरीके से ध्यान नहीं लगा पाते, जिससे स्ट्रेस बढ़ता है. इसीलिए बिना तकिए के सही पोज़िशन में सोएं. 
 
stress

5. मेमोरी बढ़ाए
जब हम जागते हैं तब दिमाग भी एक्टिव रहता है. ठीक इसी तरह सोने पर दिमाग भी रेस्ट मोड पर चला जाता है. लेकिन अगर आपके शरीर को सही नींद मिली तो दिमाग नींद में भी एक्टिव रहता है, जिससे चीज़े भूलने जैसी दिक्कतें सामने आती हैं. वहीं, अगर आपको सही नींद मिले तो दिमाग को रेस्ट मिलता है और मेमोरी अच्छी होती है. इसके लिए बिना तकिए के सोएं.  
ये हैं हल्‍दी वाले दूध के 7 बेजोड़ फायदे​
 
memory

6. बच्चे को फ्लैट हेड सिंड्रोम से बचाए
अगर आप बच्चे को सॉफ्ट तकिए पर ज़्यादा देर तक सुलाते हैं तो उसे फ्लैट हेड सिंड्रोम होने का खतरा बना रहता है. इसमें बच्चों का सिर एक तरफ से फ्लैट (चपटा) हो जाता है. इससे बचाने के लिए ज़रूर है बच्चों को बिना तकिए के सुलाएं, ताकि उनके सिर का आकार सही तरीके से डेवलेप हो सके. 

टिप्पणियां
7. बच्चों को गर्दन की मोच से बचाएं 
छोटे बच्चे काफी देर तक सोते हैं, ऐसे में कई बार तकिए की वजह से उनकी गर्दन में मोच आने का खतरा बना रहता है. हालांकि ये तकिए के गलत डिज़ाइन की वजह से भी हो सकता है. इसीलिए बेहतर है कि उन्हें बिना तकिए के सुलाने की आदत डाली जाए. 
 
kids

नोट- अगर आप बिना तकिए के नहीं सो सकते तो ध्यान रखें कि वो ज़्यादा हार्ड और ऊंचा ना हो. 

देखें वीडियो - सेहत के लिए कितनी फायदेमंद है फ्लेवर्ड चाय?
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement